नहीं रुक रही गोवंशों की अवैध तस्करी:फर्जी पर्ची दिखा 10 जिलों की पुलिस को किया गुमराह, 32 गोवंशों को बूचड़खाना लेकर जा रहा था तस्कर, बीजापुर में पकड़ाया

जगदलपुर/बीजापुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फर्जी पर्ची दिखा कर 10 जिलों की पुलिस को गुमराह कर 32 गोवंशों को आंध्रप्रदेश के बूचड़खाने तस्कर लेकर जा रहा था। बीजापुर में पुलिस ने तस्कर को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
फर्जी पर्ची दिखा कर 10 जिलों की पुलिस को गुमराह कर 32 गोवंशों को आंध्रप्रदेश के बूचड़खाने तस्कर लेकर जा रहा था। बीजापुर में पुलिस ने तस्कर को गिरफ्तार किया है।

बीजापुर जिले के मद्देड़ थाना क्षेत्र में जवानों ने सोमवार की रात गोवंशों से भरी एक ट्रक को पकड़ा है। ट्रक में 32 गोवंशों को ठूंस-ठूंस कर भरा गया था। जिसे तस्कर बालोद से आंध्रप्रदेश के बूचड़खाने लेकर जा रहे थे। लेकिन एक बार फिर जवानों ने अपनी सक्रियता दिखाते हुए तस्करों को छत्तीसगढ़ बॉर्डर पार करने से पहले ही पकड़ लिया। पुलिस ने ट्रक के ड्राइवर और हेल्पर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं सभी गोवंशों को कोंडागांव की गौशाला में छोड़ा जाएगा।

फर्जी पर्ची दिखा कर पुलिस को किया गुमराह

बालोद से बीजापुर जिले तक लगभग 2 दर्जन से ज्यादा बड़े चेक पोस्ट हैं, जहां 24 घंटे जवान मुस्तैद भी रहते हैं। लेकिन तस्कर की चतुराई ने सभी को गुमराह किया। मवेशी सप्लाई की फर्जी पर्ची दिखा कर आसानी से चेकपोस्ट को पार करता गया। ऐसे में अब पुलिस की निष्क्रियता की भी पोल खुलती हुई नजर आ रही है। लेकिन बीजापुर के मद्देड़ में पुलिस के सामने ट्रक चालक की चतुराई काम नहीं आई और पुलिस ने इनपर कार्रवाई कर दी। वहीं जिस रुट से तस्कर बीजापुर तक पहुंचे वह नेशनल हाईवे है।

राजधानी सहित 10 जिलों को आसानी से किया पार

छत्तीसगढ़ से आंध्रप्रदेश के बूचड़खाने गोवंशों की तस्करी का सिलसिला जारी है। 2 दिन पहले छत्तीसगढ़ के बालोद जिले से तस्करों ने ट्रक में 32 गोवंशों को ठूंस-ठूंस कर भरा, फिर 10 जिलों को आसानी से पार करते हुए छत्तीसगढ़-आंध्रप्रदेश बॉर्डर तक पहुंच गए। बालोद से निकली ट्रक, दुर्ग, भिलाई, राजधानी रायपुर, धमतरी, कांकेर, कोंडागांव, जगदलपुर, दंतेवाड़ा और फिर अंतिम बीजापुर जिला पहुंची। जहां सोमवार की रात बॉर्डर पार करने से पहले ही जवानों ने ट्रक को पकड़ा लिया।

बीजापुर पुलिस को 3 महीने में मिली 3 सफलताएं

बीजापुर पुलिस को 3 महीने में यह तीसरी बड़ी सफलता मिली है। 3 महीने पहले भी बीजापुर के तिमेड बॉर्डर को तस्करों ने बड़ी आसानी से पार कर महाराष्ट्र में प्रवेश कर लिया था। जानकारी लगने के बाद महाराष्ट्र से तस्करों को बीजापुर की पुलिस ने ही पकड़ा था। मई माह में भी 35 गोवंशों से भरी ट्रक को बॉर्डर में पकड़ा गया था। दम घुटने से एक मवेशी की मौत भी हो गई थी। सोमवार देर रात भी 32 गोवंशों से भरी ट्रक को पकड़ा है।

भोपालपटनम SDOP अभिषेक सिंह ने बताया कि सोमवार की रात 32 गोवंशों से भरी एक ट्रक मद्देड़ चेक पोस्ट पहुंची। ट्रक के चालक ने पुलिस को गुमराह करने के लिए मवेशियों की सप्लाई की अनुमति की फर्जी पर्ची दिखाई। जिनपर कार्रवाई करते हुए ट्रक चालक और हेल्पर को गिरफ्तार कर लिया है। सभी गोवंशों को सुरक्षित कोंडागांव के गौशाला में छोड़ा जाएगा।

खबरें और भी हैं...