पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी लापरवाही:कोरोना से फिर तीन मरीजों की मौत, घरों में जान जा रही तो चुपचाप अंतिम संस्कार कर दे रहे लोग

जगदलपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवार को स्थानीय मुक्तिधाम में जलते हुए शव। - Dainik Bhaskar
सोमवार को स्थानीय मुक्तिधाम में जलते हुए शव।
  • घरों पर होने वाली मौतों की मॉनिटरिंग नहीं हो पा रही, पिछले 15 दिन में शहर में 30 से ज्यादा लोगों की मौत
  • 2 दिन में 2 केस: लक्षण थे पर मौत के बाद भी नहीं कराया टेस्ट

मेडिकल कॉलेज में कोविड पॉजिटिव होने के बाद इलाज करवाने के लिए भर्ती हुए तीन मरीजों ने दम तोड़ दिया है। मरने वालों में तीन जिलों के मरीज शामिल हैं इनमें कोंडागांव, बस्तर और दंतेवाड़ा के मरीजों ने दम तोड़ा है। बताया जा रहा है कि सभी की स्थिति बेहद खराब थी। इधर अब खबरें आ रही हैं कि जिले में हर रोज ऐसे कई लोगों की मौतें हो रही हैं जो बीमार थे। इनमें से कुछ के कोविड पॉजिटिव होने की आशंका भी है लेकिन परिवार के लोग जानकारी प्रशासन तक नहीं पहुंचा रहे हैं और बिना जांच के ही शवों का अंतिम संस्कार करवा दिया जा रहा है।

पिछले 2 दिनों में ऐसे दो मामले हुए हैं जिनमें मरीज के पॉजिटिव होने की पूरी संभावना थी लेकिन जांच होने से पहले ही मरीज ने दम तोड़ दिया और परिजनों ने शवों का अंतिम संस्कार बिना प्रशासन को जानकारी देकर कर दिया। पिछले 15 दिनों में 30 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है इनमें से कई के पॉजिटिव होने की आशंका है हालांकि इनका कोई मेडिकल रिकॉर्ड नहीं है। अलेक्जेंडर चेरियन कहते हैं कि कुछ लोग रात में भी अंतिम संस्कार के लिए आ रहे हैं हम लोगों से अपील कर रहे हैं कि जरा सी भी शंका होने पर मृृतक का कोरोना टेस्ट करवा लें यदि मृतक पॉजिटिव निकलता है तब भी हम रीति रिवाज से ही अंतिम संस्कार करवा रहे हैं।

अायुक्त बोले- कुछ दिनों पहले पीपीई किट पहनकर कुछ लोगों ने शव जलाया था
इधर निगम आयुक्त प्रेम कुमार पटेल ने बताया कि अभी श्मशान घाट में राउंड दी क्लाक कोई कर्मचारी तैनात नहीं हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि यह तीन शिफ्ट में कर्मचारी तैनात किए जाए। कुछ दिनों पहले ही हमें भी सूचना मिली थी कि कुछ लोग पीपीई किट पहन शव का अंतिम संस्कार कर रहे हैं। इसके बाद यहां मॉनिटरिंग को बढ़ाया गया है। यहां कुछ समय पहले एक कर्मचारी तैनात था लेकिन उसकी मौत हो गई। ऐसे में व्यवस्था थोड़ी गड़बड़ हो गई है जिसे सुधारा जा रहा है।

श्मशान में शाम 7 बजे के बाद कोई मॉनिटरिंग नहीं
इधर शहर के सबसे बड़ा श्मशान घाट खड़कघाट में है शहर सहित आसपास के इलाके में होने वाली मौतों के बाद लोग शवों को अंतिम संस्कार के लिए यहीं लेकर आते हैं। यहां कब कौन लाशें लेकर आ रहा है कहां से आ रहा है जैसी जानकारी रखने के लिए निगम ने दो कर्मचारियों को तैनात किया गया है लेकिन ये कर्मचारी शाम छह से सात बजे तक यहां तैनात रहते हैं इसके बाद कोई नहीं रहता।

मेकॉज में मेडिसिन विभाग के 3 डाॅक्टर कोरोना पॉजिटिव
मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के तीन डाॅक्टर कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। डाॅक्टरों के पॉजिटिव होने के बाद अब मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन वार्ड में इलाज प्रभावित न हो इसलिए दूसरे डाॅक्टरों की ड्यूटी लगाई जा रही है। एक साथ तीन डाॅक्टरों के पॉजिटिव हो जाने के बाद आनन-फानन में डाॅक्टरों को आइसोलेशन में रखा गया है और डाॅक्टरों के पॉजिटिव होने का असर मरीजों की सेहत पर न पड़े इसलिए दूसरे डाॅक्टरों को मेडिसिन विभाग में तैनात किया जा रहा है।

इधर डाॅक्टरों के पॉजिटिव निकलने के दो दिनों पहले मेकॉज में तैनात 10 वार्ड आया और वार्ड ब्वाय कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। इन्हें भी आइसोलेशन में रखा गया है। इधर अब जिले में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी देखी जा रही है। रविवार को भी जिले में सिर्फ 89 नए मरीज मिले थे। सोमवार शाम तक भी जिले में सिर्फ 50 नए मरीज मिले थे

जिससे मिलें उसे पॉजिटिव मानें, तभी रहेंगे सुरक्षित
मेकॉज के कोविड हॉस्पिटल के डॉक्टर सोन कुमार साहू ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक है इस बार का संक्रमण 40 या 50 की उम्र पार कर चुके जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित है उन पर खतरनाक अटैक कर रहा है। ऐसे जो भी मरीज हैं जो इस क्रायटेरिया में आ रहे हैं वे पॉजिटिव होने के बाद घर पर न रहें हॉस्पिटल में भर्ती होकर इलाज करवाएं। अभी कई मामले ऐसे भी मिले हैं जिनमें मरीज कोरोना पॉजिटिव तो हैं लेकिन हर प्रकार की जांच रिपोर्ट उन्हें निगेटिव बता रही हैं। ऐसे में मरीजों को चाहिए कि वे लक्षण के आधार पर ही दवा की डोज डाॅक्टर की सलाह पर शुरू कर दें। इसके अलावा जो मरीज होम आइसोलेशन पर हैं वो अनिवार्य तौर पर हर तीन से चार घंटे में आॅक्सीजन सैचुरेशन चेक करें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें