बीजापुर शहर के पास बाघों का डेरा:सड़क पर बाघ और बाघिन समेत 3 शावकों को देखे जाने का दावा; सावधान रहने करवाई गई मुनादी

जगदलपुर/बीजापुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में इन दिनों लगातार अलग-अलग इलाकों में बाघ को देखे जाने का दावा किया जा रहा है। मंगलवार रात एक बाघ की तस्वीर कैमरे में कैद होने की बात कही जा रही है। वहीं 2 दिन पहले 1 बाघिन के साथ 3 शावकों के देखे जाने की बात चर्चा में थी। यह दावा किया जा रहा था कि इनकी तस्वीर को ग्रामीणों ने अपने कैमरे में कैद किया है। इधर शहर के नजदीक बाघ के देखे जाने की चर्चा से अब इलाके के लोगों में भी दहशत का माहौल है। फिलहाल प्रशासन ने भी तस्वीरों के आधार पर इलाके में ग्रामीणों को सावधान रहने की मुनादी करानी शुरू कर दी है।

बताया जा रहा है कि, मंगलवार की रात बीजापुर घाटी में महादेव घाट और कोडेपाल के बीच सड़क पार करते हुए एक बाघ को ग्रामीणों ने देखा है। फिलहाल इसकी आधिकारिक पुष्टि अब तक नहीं हुई है। लेकिन इलाके के ग्रामीणों में दहशत जरूर है। इलाके के लोगों का कहना है कि, शहर और गांव के नजदीक बाघ देखे जा रहे हैं। उनके लिए चिंता बढ़ गई है। ग्रामीण पहले जंगल से बेझिझक होकर लकड़ियां लेने के लिए जाते थे, लेकिन अब थोड़ा डर बना हुआ है।

सोमवार को 1 बाघिन के साथ 3 शावक के देखे जाने का दावा किया गया है।
सोमवार को 1 बाघिन के साथ 3 शावक के देखे जाने का दावा किया गया है।

बाघिन समेत 3 शावक देखने का दावा
सोमवार की रात भोपालपटनम में एक बाघिन समेत 3 शावकों को देखने का भी दावा किया गया है। बंडलवागू नाले में एक बाघ के द्वारा युवक पर हमला करने की चर्चा भी जोरों से चल रही है। यह भी बताया जा रहा है कि बाघ के इस हमले में युवक बच गया है। इधर 28 दिसंबर की रात एक बाघ की तस्वीर भी फॉरेस्ट विभाग के कैमरे में कैद होने का दावा किया जा रहा है। यह तस्वीर भी सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है। इस तस्वीर के मामले में अब तक फॉरेस्ट के किसी अधिकारी की तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

तस्वीरों के आधार पर फॉरेस्ट विभाग के द्वारा मुनादी करवाई जा रही है।
तस्वीरों के आधार पर फॉरेस्ट विभाग के द्वारा मुनादी करवाई जा रही है।

ट्रैक्टर में कराई जा रही मुनादी
शहर के नजदीक बाघों को देखे जाने के दावे के बाद प्रशासन की भी नींद उड़ गई है। भोपालपटनम में ट्रैक्टर के माध्यम से मुनादी करवाई जा रही है। ग्रामीणों को सतर्क रहने को भी कहा जा रहा है। साथ ही रात के समय घर से बाहर न निकले और जंगल की तरफ न जाने को कहा जा रहा है। यदि कहीं किसी भी ग्रामीण को बाघ दिखे या पता चले तो उसकी जानकारी फौरन वन विभाग को देने भी कहा गया है।