पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नई व्यवस्था:मेकॉज में 100 बेड भरने को, अब गंभीर मरीज ही लेंगे, बाकी कांकेर-बीजापुर के अस्पताल जाएंगे

जगदलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • संभाग के हर जिले में बनाया जाना है कोविड केयर सेंटर, कांकेर और बीजापुर में हो चुकी शुरुआत

मेडिकल कॉलेज में कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। यहां गुरुवार-शुक्रवार की रात ऐसी स्थिति बनी कि बिना लक्षण वाले नए मरीजों की इंट्री पर मेकॉज प्रबंधन को रोक लगानी पड़ी। मरीजों की बढ़ रही संख्या को देखते हुए कांकेर और बीजापुर में सौ-सौ बिस्तर के दो नए कोविड हॉस्पिटल शुरू करने पड़ गए। दरअसल गुरुवार की शाम छह बजे तक पूरे बस्तर संभाग में 30 से ज्यादा नए मरीज मिले चुके थे। इन सभी को मेकॉज लाया गया तो यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 90 से ज्यादा हो गई थी। इसके बाद शाम 7 बजे पता चला कि कांकेर और नारायणपुर से फिर नए मरीज मिले हैं। इसके बाद मेकॉज प्रबंधन के अफसरों ने निर्णय लिया कि इन नए मरीजों को मेकॉज न लाया जाए। मेकॉज के डॉक्टरों ने बताया कि अभी उनके पास सिर्फ दो सौ बेड हैं। इनमें कुछ बेड सस्पेक्टेड लोगों के लिए रखे गए हैं, वहीं महिला और पुरुष पॉजिटिव मरीजों के लिए अलग-अलग व्यवस्था है। ऐसे में यदि वे एडमिशन जारी रखेंगे तो सस्पेक्टेड को रखने के लिए कोई जगह नहीं बचेगी। यदि बस्तर में भी अन्य जिलों जैसी स्थिति बनती है तो फिर मरीजों को रखने के लिए जगह ही नहीं बचेगी। यही कारण है कि मेकॉज प्रबंधन ने नए मरीजों के भर्ती होने पर रोक लगाते हुए प्रशासनिक अफसरों को सारी स्थिति से अवगत करवा दिया था। इसके बाद रातों-रात कांकेर और बीजापुर में पहले से तैयार कर रखे गए कोविड हास्पिटलों को शुरू कर दिया गया है। देर शाम और रात में नारायणपुर से निकलने वाले पॉजिटिव मरीजों को कांकेर के कोविड हॉस्पिटल में इलाज के लिए भेज दिया गया है।

दंतेवाड़ा के 16 नए मरीज लाए गए मेकॉज
कोरोना के नए मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं शुक्रवार को दंतेवाड़ा में 16 नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए हैं। इसी बीच शुक्रवार की देर शाम करीब 10 कोरोना पॉजिटिव रहे मरीज संक्रमणमुक्त होकर घर भी लौट गए हैं। इसके साथ ही मेकॉज में शुक्रवार शाम तक करीब 90 कोरोना मरीज भर्ती किए गए थे।

लक्षण वाले और गंभीर मरीजों को मेकॉज लाएंगे
इधर मेकॉज प्रबंधन से जुड़े डॉक्टरों ने बताया कांकेर और बीजापुर के हॉस्पिटल में सिर्फ उन्हीं कोरोना मरीजों को भर्ती करने कहा गया है जिनमें कोरोना के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। इसके अलावा ऐसे कोरोना मरीज जिनमें लक्षण हो और किसी बीमारियों से कोई ग्रसित है तो उसका इलाज मेकॉज में लाकर ही किया जाएगा।

हर जिले में एक कोविड केयर सेंटर बना रहे
मेकॉज के कोविड प्रभारी डॉ. नवीन दुल्हानी ने बताया संभाग के हर जिले में एक-एक कोविड केयर सेंटर बनाया जाना है। बीजापुर व कांकेर में शुरु हो गया है। मेकॉज में संभागभर के मरीज लाने से ओवरक्राऊड हो रहा है। ऐसे में संबंधित जिलों के कोविड सेंटर में भर्ती किसी मरीज की तबीयत बिगड़ने पर मेकॉज लाया जाएगा।

इधर मेकॉज के ब्लड बैंक के स्टाक में एक भी यूनिट ब्लड नहीं
इधर कोरोना का असर अब मेकॉज के ब्लड बैंक में भी देखने को मिल रहा है। मेकॉज के ब्लड बैंक में अभी स्टाक में एक भी यूनिट रक्त नहीं है। आपात स्थिति में यदि खून की जरूरत पड़ेगी तब भी डोनर को लाना ही पड़ेगा। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ महीनों से लोगों ने स्वेच्छिक रक्तदान ही नहीं किया है। जिन लोगों ने रक्तदान किया बदले में वे अपने मरीज के लिए रक्त ले गए ऐसे में ब्लड बैंक खाली पड़ा है। एक जानकारी के अनुसार जून में ब्लड बैंक में कुल 632 यूनिट खून पहुंचा। इस खून में 24 यूनिट खून खराब निकला। बैंक के पास करीब 620 यूनिट खून बचा और इतने ही लोगों ने बैंक से खून भी ले लिया। हालात ऐसे हैं कि रेयर ग्रुप वाले खून की भी यहां स्टाक में मौजूद नहीं है। बताया जा रहा है कि यदि ऐसी ही स्थिति रही तो फिर आपात स्थिति में खून की जरूरत पड़ने पर यहां उपलब्ध नहीं हो पाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें