देश को कोरोना से मुक्ति दिलाने महिलाओं की तीर्थ यात्रा:12 महीने में 12 मंदिरों में जाएंगी, मां दंतेश्वरी मंदिर में चढ़ाए श्रृंगार; मथुरा तक करेंगी यात्रा

जगदलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
माहेश्वरी समाज की महिलाएं देश को कोरोना से मुक्ति दिलाने तीर्थ यात्रा कर रही हैं। - Dainik Bhaskar
माहेश्वरी समाज की महिलाएं देश को कोरोना से मुक्ति दिलाने तीर्थ यात्रा कर रही हैं।

बस्तर संभाग की माहेश्वरी समाज की महिलाएं देश को कोरोना से मुक्ति दिलाने तीर्थ यात्रा कर रही हैं। महिलाएं माता की चुनरी कार्यक्रम चला रही हैं। इसके तहत वे माता मंदिरों में जाकर चुनरी और सोलह श्रृंगार चढ़ा, देश में सुख, समृद्धि की कामना भी कर रही हैं। संभाग के सातों जिले की माहेश्वरी समाज की महिलाओं ने बस्तर के गिरौला के हिंगलाजिन माता मंदिर से इस यात्रा की शुरुआत की है। साथ ही दंतेवाड़ा में स्थित आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के दर्शन कर माताजी को सोलह श्रृंगार चढ़ाकर देश, समाज, परिवार की सुख समृद्धि की कामना की है।

समाज की बस्तर जिलाध्यक्ष भारती चांडक, सचिव ज्योति गोविंद ईनाणी, सीमा चांडक, सुमन राठी, कंचन तापड़िया, मिथलेश ईनाणी, अंजना तावरी, गंगा ईनाणी, पद्मा चांडक सहित अन्य महिलाओं ने बताया कि शुरुआत में समाज की करीब 20 महिलाओं ने इसकी शुरुआत की थी। पिछले दो सालों से कोरोना जैसी बीमारी से देश जूझ रहा है। लोग परेशान हैं। इस बीमारी से जल्द से जल्द मुक्ति मिले और देश में हालात सुधरने की कामना कर रहे हैं।

इसके अलावा देश, समाज, परिवार में सुख समृद्धि की कामना के साथ माता की चुनरी कार्यक्रम की शुरुआत की है। समाज की बस्तर जिले की 20 महिलाओं ने इसकी शुरुआत की थी। अब कोंडागांव, दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा, नारायणपुर , कोंटा से लेकर पड़ोसी राज्य ओडिशा के मलकानगिरी तक की महिलाएं इस कार्यक्रम में सहभागी बन रही हैं। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए यह कार्यक्रम कर रहे हैं। उम्मीद है इस कार्यक्रम में और भी महिलाएं सहभागी बनेंगी।

हर महीने देश के अलग- अलग मंदिर जाकर चढ़ावा करेंगी
समाज की महिलाओं ने बताया कि नवरात्र पर्व से हमने इस कार्यक्रम की शुरुआत गिरौला के हिंगलाजिन माता मंदिर से शुरुआत की थी। इसके बाद बालोद जिले के झलमला के गंगा मैया, भद्राचलम के पास पालवंचा माता के मंदिर और अब दंतेवाड़ा में दंतेश्वरी माता के मंदिर पहुंच चढ़ावा कर माताजी से आशीर्वाद प्राप्त किया। 12 महीने का यह कार्यक्रम है।

मथुरा तक करेंगी यात्रा

देश के अलग- अलग मंदिरों में जाकर चढ़ावा करेंगी। 13वें महीने में मथुरा जाकर यमुना जी को 108 साड़ियां और श्रृंगार चढ़ावा कर कार्यक्रम का समापन करेंगी। महिला मंडल सचिव ज्योति ईनाणी ने बताया कि, महिला मंडल समय-समय पर इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करती है। सभी महिलाओं के सहयोग से आगे भी ऐसे कार्यक्रम जारी रहेंगे।

खबरें और भी हैं...