पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम का हाल:बिजली गिरने से 4 मवेशियों की मौत, पूर्वी मध्यप्रदेश के ऊपर और झारखंड में बने चक्रवात से हो रही है बारिश

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में एक घंटे हुई बारिश। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। - Dainik Bhaskar
शहर में एक घंटे हुई बारिश। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली।

जिले में लगातार बदली तथा बीच बीच में हो रही बारिश की वजह से गर्मी से राहत जरूर मिल रही है। शुक्रवार दोपहर एक बार फिर आधा घंटे बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन इसी प्रकार मौसम बने रहने की संभावना है। कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसे मौसम से चना व गेहूं की फसल को नुकसान हो सकता है। इधर बिजली गिरने से चार मवेशी की मौत हो गई।

कांकेर शहर में 7 मई शुक्रवार को दोपहर आधे घंटे तक बारिश हुई। इसके अलावा चारामा में नरहरपुर में भी हल्की बारिश हुई। अंतागढ़ में बादल छाए रहे लेकिन बारिश नहीं हुई। मौसम वैज्ञानिकों ने अगले दो दिन हल्की बारिश की संभावना जताई है। वर्तमान में हो रही बारिश पूर्वी मध्यप्रदेश के ऊपर बने चक्रवात से हो रही है। इसके साथ ही, झारखंड से असम, पश्चिम बंगाल व कर्नाटक में चक्रवात बना हुआ है। बारिश की वजह से गेहूं व चना के जो फसल कटकर खेतों में पड़े हुए हैं उसको नुकसान होगा। फसलों की गुणवत्ता खराब हो सकती है। कृषि वैज्ञानिकों ने फसल को सुरक्षित रखने की सलाह दी है। इसके एक दिन पूर्व 6 मई को भी जिले में गरज चमक के साथ बारिश हुई थी। जिसमें ग्राम मर्रापी व पीढ़ापाल में तेज बारिश हुई। मर्रापी में बिजली गिरने से पेड़ के नीचे खड़े चार मवेशी की मौके पर मौत हो गई। ये सभी मवेशी नीलू राम मंडावी के थे।

36 डिग्री तक रहेगा अधिकतम तापमान
मौसम वैज्ञानिक हेमंत भुआर्य ने कहा दो दिन हल्की बारिश होने की संभावना है। बारिश होने के कारण अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास पर रहेगा।

फसल की गुणवत्ता में आएगी कमी
कांकेर कृषि विज्ञान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा बीरबल साहू ने कहा बारिश की वजह से चना व गेहूं के फसल की गुणवत्ता खराब हो सकती है।

खबरें और भी हैं...