अवैध खनन पर कार्रवाई:देर रात 3 बजे 5 टीमों ने जब्त की रेत-गिट्‌टी-ईंट से भरी 18 गाड़ियां

कांकेर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टोरेट परिसर में खड़े जब्त ट्रैक्टर और अन्य वाहन। - Dainik Bhaskar
कलेक्टोरेट परिसर में खड़े जब्त ट्रैक्टर और अन्य वाहन।
  • सुबह तक लीक हो जाती थी सूचना इसलिए इसबार देर रात की कार्रवाई

जिले में अवैध रूप से रेत, गिट्‌टी और लाल ईंटों की सप्लाई की शिकायतें लगातार मिल रही थी लेकिन अवैध कारोबार में लिप्त लोग पकड़ में नहीं आते थे। प्रशासन ने जांच कराई तो पता चला पूरा अवैध कारोबार देर रात 3 से सुबह 5 बजे के बीच हो जाता है।

इस बार प्रशासन ने नक्सल की तर्ज पर पूरी गोपनीयता बरतते कार्रवाई करने पांच टीमों को रात तीन बजे मैदान में उतार दिया। दो घंटे में टीम ने दो-चार नहीं बल्कि 18 गाड़ियां पकड़ी। ये अवैध रूप से रेत, ईंट और गिट्‌टी का परिवहन कर रही थी। इस कारोबार में लिप्त लोगों ने इतनी जल्दी अफसरों के मैदान में उतर कार्रवाई करने पहुंचने की कल्पना भी नहीं की थी। साथ ही पूरे ऑपरेशन से माइनिंग विभाग को दूर रखा गया था। इस बार टीम को बड़ी सफलता मिलने के ये दोनों ही कारण रहे।

टीम के साथ राजस्व अमला और सुरक्षा के लिए पुलिस बल भी था
जिले में लगातार रेत, ईंट और गिट्‌टी के अवैध कारोबार पर लगाम लगाने के लिए 5 अलग-अलग टीमें बनाई गईं। साथ ही कार्रवाई की जानकारी लीक न हो इसलिए माइनिंग विभाग को पूरे ऑपरेशन से दूर रखा। इस आॅपरेशन के लिए पिछले एक महीने से तैयारियां करते सूचनाएं एकत्रित की जा रही थी। देर रात बजे 5 अलग-अलग टीमें एसडीएम यूएस बंदे, प्रशिक्षु डिप्टी कलेक्टर विश्वास कुमार, तहसीलदार मनोज मरकाम, नजूल विभाग के एचआर नायक और नायब तहसीलदार गेंदलाल साहू के नेतृत्व में उतारी गई। टीम के साथ राजस्व अमला और सुरक्षा के लिए पुलिस बल भी था। पांचों टीमें एक साथ अलग-अलग जगहों नारा, माकड़ी-सिदेसर, दुधावा चौक, कोदाभाट और बागोडार पहुंची। टीम को हर जगह से ट्रैक्टर, हाईवा और मेटाडोर अवैध रूप से ईंट, रेत व गिट्‌टी सप्लाई करते मिली। किसी भी गाड़ी के पास वैद्य दस्तावेज नहीं थे।

14 ट्रैक्टर, 1 मेटाडोर व तीन हाईवा जब्त
टीम ने 5 बजे तक दो घंटे में कुल 18 गाड़ियों को पकड़ा गया, जिनमें 14 ट्रैक्टर, एक मेटाडोर और तीन हाईवा थी। इनमें से 10 ट्रैक्टरों में लाल ईट व 4 ट्रैक्टरों में रेत मिली। तीन हाईवा और एक मेटाडोर में गिट्‌टी मिली। इसके अलावा दो हाईवा में रेत मिली।

9 ट्रैक्टर तो बिना नंबर के पकड़े गए
टीम द्वारा पकड़े गए 18 वाहनों में से 9 बिना नंबर के थे। इसके अलावा शेष वाहनों के नंबर भी स्पष्ट नहीं लिखे गए थे। यही कारण है कि बिना नंबर के और अस्पष्ट नंबरों के ट्रैक्टर और अन्य वाहन पकड़ में नहीं आ पाते थे।

इन खनिज माफिया के नाम आए सामने
टीम द्वारा की गई कार्रवाई में जिनके वाहन पकड़ाए हैं उनमें हेम प्रभा, भोज राम सिन्हा, सुरेंद्र भारद्वाज, रवि जैन, संजय ठाकुर, मो जाकिर , राकेश यादव, गंगा मंडल आदि के नाम सामने आए हैं। कुछ नाम सामने नहीं आ पाए हैं जिनकी पड़ताल की जा रही है।

ऑपरेशन के लिए एक महीने तक किया गया होमवर्क
इस ऑपरेशन के लिए एक महीने से होमवर्क किया जा रहा था। सभी जानकारी मिलने पर शुक्रवार को गोपनीय बैठक की गई। पूरी कार्रवाई में माइनिंग विभाग को शामिल नहीं किया गया था। इसका कारण ये था कि होमवर्क के दौरान टीम को इनपुट मिले थे की कार्रवाई की जानकारी माइनिंग विभाग का मैदानी अमला लीक कर देता था, जिससे खनिज माफिया सर्तक हो जाता था।

आगे भी जारी रहेगी कार्रवाई: एसडीएम
एसडीएम यूएस बंदे ने कहा मिल रही शिकायतों के बाद टीम बनाकर कार्रवाई की गई। 18 वाहन अवैध रूप से रेत, गिट्टी तथा लाल ईंटों का परिवहन करते पकड़ाए हैं। वाहनों को कार्रवाई के लिए माइनिंग विभाग के सुपुर्द किया गया है। आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।



खबरें और भी हैं...