एक ही दिन में 4 केस / एक स्वास्थ्य विभाग का कर्मचारी, 3 मुंबई, हैदराबाद, जबलपुर से आए थे

कोरोना मरीज मिलने के बाद कांकेर में टाेटल लॉकडाउन किया गया। कोरोना मरीज मिलने के बाद कांकेर में टाेटल लॉकडाउन किया गया।
X
कोरोना मरीज मिलने के बाद कांकेर में टाेटल लॉकडाउन किया गया।कोरोना मरीज मिलने के बाद कांकेर में टाेटल लॉकडाउन किया गया।

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कांकेर. बस्तर संभाग के कांकेर जिले में पहला कोरोना मरीज मिलने के दूसरे दिन शुक्रवार को चार नए मरीज मिले। इनमें दो मरीज शहर से सटे गांव से हैं, जिनका शहर में आना-जाना था। इनमें से एक स्वास्थ्य विभाग का कंप्यूटर ऑपरेटर है। मरीजों के शहर से जुड़े होने से दोपहर में पूरा शहर बंद करा दिया गया। नए मरीज जिन लोगों के संपर्क में आए हैं उनका भी सैंपल लिया जा रहा है। 
जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 5 पहुंच गई। शुक्रवार को जो चार नए मरीज मिले हैं उनमें सीएमएचओ कार्यालय का कर्मचारी दसपुर का रहने वाला है। दूसरा कोरोना मरीज शहर के उदयनगर से लगे ठेलकाबोड़ के मावलीनगर में अपने बहन के घर पिछले कुछ दिनों से रह रहा था। यह युवक पीढ़ापाल के ग्राम किरगापाटी का रहने वाला है, जो जबलपुर से लौटा था। तीसरा मरीज दुर्गूकोंदल विकासखंड के हाटकोंदल का रहने वाला है, जो मुंबई से लौटने के बाद हाटकोंदल के बरगांव क्वारेंटाइन सेंटर में 8 लोगों के साथ था। 
चौथा मरीज धनेलीकन्हार इलाके के सुरेली का है, जो कुछ दिन पहले ही हैदराबाद से लौटा था। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी व मावलीनगर के युवक के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के बाद शहर में हड़कंप मच गया। प्रशासन ने टोटल लॉकडाउन का ऐलान करते शहर बंद करा दिया। दुर्गूकोंदल के हाटकोंदल में पाया गया मरीज 17 मई को मुंबई से अपने पांच साथियों के साथ हाटकोंदल लौटा था। सभी को हाटकोंदल के बरगांव में बने क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। 
गर्भवती पत्नी का धमतरी से चेकअप कराकर लौटा था 
शुक्रवार को मिले चार नए मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री की पड़ताल विभाग कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आपरेटर कुछ दिन पहले अपनी गर्भवती पत्नी का चेकअप कराने धमतरी के क्रिश्चन अस्पताल बठेना गया था। वहां से आने के बाद उसे सर्दी-खांसी थी। जिला अस्पताल के फीवर क्लिनिक में जांच कर उसका स्वॉब सैंपल लिया गया था। हालांंकि धमतरी में एक भी कोरोना पाॅजिटिव केस नहीं मिला है फिर उक्त कर्मचारी कहां व कैसे संक्रमित हुआ, यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। 
पुलिस में तैनात जीजा के साथ रह रहा था युवक
मावलीनगर का मरीज जबलपुर में बैंकिंग कोचिंग कर रहा है। 11 मई को एक बस से 12 लोगों के साथ कांकेर रवाना हुआ। बस में सभी छत्तीसगढ़ के लोग थे। युवक जबलपुर से मनेंद्रगढ़, सुरजपुर, अंबिकापुर, रायगढ़, सिरपुर होते धमतरी पहुंचा। पुरूर में युवक को उतार बस बालोद होते आगे बढ़ गई। यहां से युवक मजदूरों को रायपुर छोड़ कांकेर आ रही बस में सवार हो गया, जिसमें एक दो लोग ही थे, जिनकी पहचान नहीं हो पाई है। 12 मई को युवक पीजी काॅलेज के सामने बस से उतरकर बहन के घर मावलीनगर चला गया। 13 मई को जिला अस्पताल में उसका सैंपल लिया गया। युवक पुलिस में तैनात जीजा के साथ रह रहा था। इस दौरान जीजा ड्यूटी पर जा रहा था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना