पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ाया काॅलेजों का शैक्षणिक कैलेंडर:वार्षिक परीक्षाएं सिर पर और अभी तक नहीं हो पाईं पिछले सत्र की पूरक परीक्षाएं

कांकेर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कांकेर। कालेज में नहीं लग रही कक्षाएं, प्राध्यापक ले रहे हैं केवल ऑनलाइन क्लासेस। - Dainik Bhaskar
कांकेर। कालेज में नहीं लग रही कक्षाएं, प्राध्यापक ले रहे हैं केवल ऑनलाइन क्लासेस।

कोरोना संक्रमण के कारण काॅलेजों का शिक्षा सत्र पूरी तरह गड़बड़ा गया है। पिछले साल पूरक आने वाले छात्रों की परीक्षाएं तो दूर अभी तक टाइम टेबल नहीं आया है। अब जाकर पूरक परीक्षार्थियों के फार्म भरवाए जा रहे हैं। इस शिक्षा सत्र में सेमेस्टर परीक्षाएं भी नहीं हो पाई है। काॅलेजों में आॅनलाइन पढ़ाई तो शुरू हो गई है लेकिन स्कूलों में लगने वाली मोहल्ला क्लास जैसी यहां कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं हो पाई है।

कोरोना के कारण सत्र 2020-21 का शैक्षणिक कैलेंडर पूरी तरह गड़बड़ा गया है। गत वर्ष 3 मार्च से वार्षिक परीक्षाएं शुरू हुई थी। 17 मार्च तक परीक्षाएं होने के बाद कोरोना के चलते परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी। इसके बाद परीक्षाएं नहीं हुई जिसकी जगह पर शेष विषयों की असाईनमेंट मंगाए गए थे। पिछले सत्र में हुई परीक्षाओं में पूरक आने वाले छात्रों की अभी परीक्षाएं नहीं हो पाई है।

सेमेस्टर परीक्षा सिस्टम भी गड़बड़ाया : स्नातकोत्तर में एमए, एमएससी, एमकाम की सेमेस्टर परीक्षाएं जनवरी माह में हो जाती थी लेकिन इस वर्ष अभी तक सेमेस्टर परीक्षाएं नहीं हो पाई है। सेमेस्टर परीक्षाएं कब होंगी इसकी भी किसी को जानकारी नहीं है।

काॅलेज में कक्षाएं लेने के आदेश नहीं

पीजी काॅलेज प्राचार्य डाॅ. केआर ध्रुव ने कहा फिलहाल ऑनलाइन कक्षाएं ही ली जा रही है। काॅलेजों में कक्षाएं लगाने अभी तक कोई आदेश नहीं पहुंचा है। सेमेस्टर परीक्षा के अलावा पूरक परीक्षा का भी टाईम टेबल अभी तक नहीं आया है।

ऑनलाइन कक्षाओं से कम ही छात्र जुड़ रहे

कोरोना के कारण इस वर्ष काॅलेज की पढ़ाई काफी ज्यादा प्रभावित हुई है। स्कूलों में तो मोहल्ला क्लास लग रही है। परीक्षा का टाइम टेबल भी आ चुका है लेकिन काॅलेजों में केवल ऑनलाइन ही पढ़ाई हो रही है। पीजी काॅलेज कांकेर में इस वर्ष सभी कक्षाओं में मिलाकर दर्ज संख्या 2846 है।

इनमें से बहुत से छात्र गरीब वर्ग के होने के कारण उनके पास स्मार्ट फोन नहीं होने से वे ऑनलाइन कक्षाओं से नहीं जुड़ पा रहे हैं तो बहुत से छात्र उनके गांव में नेटवर्क की समस्या के कारण ऑनलाइन क्लास से नहीं जुड़ पा रहे हैं। पीजी कालेज में 25 प्रतिशत छात्र ऑनलाइन कक्षाओं से जुड़ पढ़ रहे हैं। इंदरू केवट कन्या कालेज में दर्ज संख्या 511 है तथा इस कालेज की 10 प्रतिशत छात्राएं ही ऑनलाइन क्लास से जुड़ पढ़ रही हैं।

थर्ड ईयर का मात्र 15% पूरा हुआ कोर्स

स्नातक प्रथम वर्ष की पढ़ाई काफी जल्दी शुरू हो गई थी। यही कारण है की स्नातक प्रथम वर्ष का 60 से 70 प्रतिशत कोर्स पूरा हो चुका है। स्नातक में द्वितीय वर्ष की पढ़ाई देरी से शुरू हुई जिसके कारण कोर्स 25 प्रतिशत तो थर्ड ईयर की पढ़ाई और देर से शुरू होने से कोर्स मात्र 15 प्रतिशत ही पूरा हो पाया है।

काॅलेज में कक्षाएं लेने के आदेश नहीं

पीजी काॅलेज प्राचार्य डाॅ. केआर ध्रुव ने कहा फिलहाल ऑनलाइन कक्षाएं ही ली जा रही है। काॅलेजों में कक्षाएं लगाने अभी तक कोई आदेश नहीं पहुंचा है। सेमेस्टर परीक्षा के अलावा पूरक परीक्षा का भी टाईम टेबल अभी तक नहीं आया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें