पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निवार का असर:दिन भर बदली, कोहरा भी छाया, अलाव का लेना पड़ा सहारा

कांकेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • न्यूनतम तापमान 16 डिग्री, अगले दो दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने का अनुमान

बंगाल की खाड़ी में उठा निवार चक्रवात समुद्री तट से टकराने के बाद अब कमजोर पड़ चुका है। साथ ही उसका रूख भी बदल गया है। इसका असर कांकेर जिले में दिख रहा है। खाड़ी से नमी आने के कारण गुरुवार रात जिले के कुछ हिस्से में बूंदाबांदी होती रही। ठंडी हवा चलने से तापमान में गिरावट आई। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिन भर बदली व ठंडी हवा चलने से लोगों को ठिठुरन से बचने दिन में ही अलाव का सहारा लेना पड़ा। सुबह काफी कोहरा छाया रहा। शुक्रवार सुबह से बादल छाए रहे। कुछ जगह हल्की बारिश भी हुई। अचानक मौसम बदलने व 4 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से ठंडी हवा चलने के कारण अधिकतर लोग घरों में ही दुबके रहे। बाहर निकलने गर्म कपड़ों का सहारा लेना पड़ा। मौसम विभाग की माने तो अगले दो दिन इसी तरह बदली की संभावना है। मौसम साफ होने के बाद सोमवार से न्यूनतम तापमान 14 डिग्री पहुंच जाएगा। अगले पांच दिनों में सुबह की हवा में 90 प्रतिशत नमी रहेगी जबकि शाम को यह आधी होकर 40 प्रतिशत तक पहुंच जाएगी। हवाएं उत्तर पूर्व दिशा से चलने की संभावना है। शुक्रवार को बदली छाए रहने से शहर के आसपास पहाड़ों में खूबसूरत नजारे दिखे। सुबह के समय कोहरा छाने के बाद पहाड़ों को देखते ही बन रहा था।

पशुपालकों और सब्जी उत्पादकों के लिए सलाह
मौसम परिवर्तन व तापमान में गिरावट को देखते कृषि वैज्ञानिक डा बीरबल साहू ने चूजों व मवेशियों को ढंककर रखने सलाह दी है। पशु बाड़े व पोल्ट्री फार्म के दरवाजों व खिड़कियों को बंद करने के बाद बोरों से ढंकने व वहां हाई मास्क बल्ब जाने कहा है। पशुओं को भी अत्याधिक ठंडा पानी नहीं देेने कहा है। मौसम में बदलाव ठंड बढऩे से मिर्ची व टमाटर पौधों के पत्तियों में सिकुड़न रोग हो सकता है।

जानिए कौन देते हैं चक्रवातों को नाम, क्या है प्रक्रिया
मौसम विज्ञानियों के अनुसार निवार चक्रवात का नाम ईरान ने दियाा। 22 नवंबर को सोमालिया में आए चक्रवात का नाम भारत ने गति दिया था। संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक आयोग तथा विश्व मौसम संगठन ने साल 2000 में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में उठने वाले चक्रवातों को नाम देेने परंपरा शुरू की। बांग्लादेश, भारत, मालदीव, यांमार, जैसे देशों के एक समूह ने चक्रवातों के लिए 13 दिए।

अगले चक्रवात का नाम होगा बुरेवी : उक्त देशों की ओर से सुझाए नाम को देश के नाम की वर्णमाला के हिसाब से सूचीबद्ध किया जाता है। इस सूची की शुरुआत बांग्लादेश से होती है। इसके बाद भारत, ईरान, मालदीव, ओमान, पाकिस्तान आते हैं। इस क्रम के हिसाब से ही चक्रवातों के नाम रखे जाते हैं। निवार के बाद आने वाले चक्रवातों के नाम बुरेवी (मालदीव), तौकते (यांमार), यास (ओमान) और गुलाब (पाकिस्तान) होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser