पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लेटलतीफी:खेल परिसर के काम में देरी, जुलाई तक बनना था, 50 %बना

कांकेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के कारण निर्माण कार्य में देरी। जुलाई 2018 में शुरू हुआ।

शहर के मिनी स्टेडियम को लंबे समय से सर्वसुविधायुक्त स्टेडियम बनाने की मांग चल रही थी। शहरवासियों की मांग पर जुलाई 2018 में स्टेडियम में सर्वसुविधायुक्त खेल परिसर बनाने 4.38 करोड़ का वर्कआर्डर जारी हुआ। ठेकेदार ने स्टेडियम निर्माण तेज गति से शुरू किया लेकिन पहले विभागीय लेटलतीफी फिर कोरोना की वजह से काम प्रभावित हुआ। यही कारण है कि जुलाई 2020 में पूरा होने वाला काम समयावधि बीतने के बावजूद 50 प्रतिशत ही पूरा हो पाया है। विभाग तथा ठेकेदार ने दावा किया है कि काम अब तेजी से चल रहा है तथा किसी प्रकार की बाधा नहीं आई तो मार्च 2021 तक काम पूरा कर लिया जाएगा। शहर में खेल मैदानों की बहुत ज्यादा कमी है। केवल नरहरदेव मैदान है जहां सभी खेल, राजनैतिक तथा सांस्कृतिक आयोजन होते हैं। मिनी स्टेडियम भी शहर के बीच है लेकिन मैदान खराब होने से यहां आयोजन कराने में परेशानी होती थी। शहर के खेल प्रेमियों की मांग पर मिनी स्टेडियम को सर्वसुविधायुक्त खेल परिसर बनाने स्वीकृति मिली तथा जुलाई 2018 में 4.38 करोड़ रूपए का वर्कआर्डर भी जारी किया गया। शुरू में खेल परिसर के डिजाइन को लेकर समस्या थी। इसके बाद मिनी स्टेडियम परिसर के सामने लगी गुमटियां हटाने को लेकर समस्या हुई। संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी ने समाधान कराया।

50 प्रतिशत काम हुआ : कार्यपालन अभियंता
लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता यूके मेश्राम ने कहा कि खेल परिसर का निर्माण काम 50 प्रतिशत हो चुका है। कोरोना संक्रमण के कारण काफी काम प्रभावित हुआ है। निर्माण में तेजी लाने प्रयास किया जा रहा है।
मार्च तक काम पूरा करा लिया जाएगा: ठाकुर
आदिम जाति कल्याण विभाग के सब इंजीनियर उमेश ठाकुर ने कहा कि निर्माण काम कोरोना संक्रमण की वजह से प्रभावित हुआ नहीं तो अभी तक काम पूरा हो जाता। मार्च माह तक निर्माण काम पूरा करवा लिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser