पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चिंतित किसान:तेज हवा व बारिश से खड़ी फसल गिरी तो पीएम बीमा नहीं मिल पाएगा

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में बेमौसम बारिश के कारण कई किसानों की फसल बारिश व तेज हवा के चलते खेतों में गिर गई है, जिससे उन्हें काफी नुकसान हुआ है

खेत में खड़ी धान की फसल बारिश व तेज हवाएं चलने की वजह से गिर चुकी है। फसल नुकसान को लेकर काफी सारे किसानों ने फसल बीमा को लेकर मुआवजा मिलने को लेकर उम्मीद लगाई है, लेकिन कृषि विभाग का मानना है कि जो धान की फसल खेतों में गिरी है। उस धान फसल का मुआवजा नहीं मिलेगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ ऐसे किसानों को मिलता है। जिनका धान का फसल खेतों में कटाई के बाद पड़ा हो, जिसे उठाकर नहीं ले जाया गया है।
इस वर्ष बेमौसम बारिश से धान के फसल को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। कई गांवों में खेत में धान की फसल तेज हवाएं चलने के साथ बारिश की वजह से गिर चुकी है और कई जगह पर तो उस धान फसल को अभी तक उठाया भी नहीं गया है। कांकेर जिला में प्रधानमंत्री फसल बीमा के अंतर्गत अऋणी किसानों की संख्या 58, 700 किसान हैं।
वही अऋणी किसान 8,484 किसान हैं। इसमें 1,16,735 हैक्टेयर रकबा के लिए किसानों ने फसल बीमा कराया है। वही प्रीमियम राशि 8 करोड़ 93 लाख जमा हुआ है। गत वर्ष 56,633 किसानों ने फसल बीमा कराया था, जिसमें 45, 652 ऋणी किसान थे। वही 10,981 अऋणी किसान थे। इसमें से गत वर्ष 34,040 किसानों को 47.63 करोड़ का फसल बीमा की राशि दी गई थी।
25 क्विंटल से कम होने पर भी मिलेगा लाभ
फसल कटाई के दौरान हर गांव में राजस्व विभाग व कृषि विभाग प्रयोग के रूप में कटाई गांव में फसल कटाई करेगी। वहीं यदि फसल कटाई में उक्त गांव से औसतन 25 क्विंटल से कम धान होगा, तो भी उस गांव के किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ मिलता है।

कोठार तक धान न ले जाने पर भीगी फसल को भी बीमा
कृषि विज्ञान केंद्र के अनुसार 10 प्रतिशत फसल नुकसान हुआ है। जिन किसानों के धान के फसल को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। ऐसे किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा में मुआवजा की मांग कर रहे हंै। 13 अक्टूबर को चारामा के कई किसान प्रशासन के पास पहुंचे थे और नुकसान होने वाले किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा दिए जाने की मांग किया है, लेकिन प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ नुकसान वाले ऐसे किसानों को ही मिलेगा। जिनका फसल धान कटाई के बाद खेत में करपा के रूप में पड़ा हो और कोठार तक धान को न ले जा पाए हो और खेत में धान भीग गया हो, तभी प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ मिल पाएगा।

फसल बीमा का लाभ मिलेगा : कृषि उपसंचालक
कांकेर कृषि उपसंचालक नरेंद्र नागेश ने कहा प्रधानमंत्री फसल बीमा के नियम प्रावधान के अनुसार कंपनी से उन्हीं किसानों को फसल बीमा का लाभ मिलेगा। जिन किसानों का धान खेत में कटाई के बाद बारिश से नुकसान हुआ हो। गांवों में जाकर भी पटवारी व ग्राम सेवक फसल कटाई के दौरान प्रयोग करते हंै।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें