हो सकती है दुर्घटना / शहर में आबादी के बीच खतरा बने कई सूखे पेड़

Many dry trees become a threat among the population in the city
X
Many dry trees become a threat among the population in the city

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कांकेर. शहर में कई जगह पर सूखे पेड़ गए हैं, जिनके तेज हवाएं चलने और बारिश होने पर गिरने का खतरा बना रहता है। इन सूखे पेड़ को कटवाने कई बार मांग उठ चुकी है, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कई सूखे पेड़ तो बिजली तार की ओर झुके हुए हैं, लेकिन इन सूखे पेड़ों को कटवाने नगर पालिका व विद्युत विभाग दोनों कोई सुध नहीं ले रहे हैं। 
शहर के अघन नगर वार्ड स्थित भावसिंह नगर के घनी बसाहट में कई घरों के साथ दुकानें लगी हुई है। यहां तीन साल से एक पेड़ पूरी तरह से सूख गया है, जिसकी डंगालें टूटकर गिरती रहती हैं। सूखे पेड़ के नीचे बिजली का तार झुका है, लेकिन इसे कटाने ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इस संबंध में नगर पालिका के साथ विद्युत विभाग को भी वार्डवासियों ने अवगत कराया है, लेकिन सूखे पेड़ को काटने अब तक कोई पहल नहीं हो पाई है। गुलाब खान, लक्ष्मी सहारे, संतोषी बरिहा, जयप्रकाश शर्मा ने कहा पेड़ पूरी तरह से सूख चुका है। इससे हमेशा खतरा रहता है। 
भंडारीपारा वार्ड में मारादेव तालाब के सामने इमली पारा जाने के रास्ते पर सूखा पेड़ है, जिसके सामने कई घरों की बसाहट है। वार्ड की बेबी शर्मा ने कहा दो वर्ष से ज्यादा समय से पेड़ सूखा चुका है, गिरने का खतरा बना हुआ है। शिवनगर में डाइट के सामने भी पेड़ सूख गया है, जो सड़क किनारे है। राजापारा में पहाड़ के नीचे पेड़ है, जो घरों की ओर झुका है। पेड़ के बीच का हिस्सा खोखला है।
4 साल पहले गिरे थे कई पेड़
चार साल पहले तेज हवा चलने से नेशनल हाईवे पर कई पेड़ गिर चुके हैं। भंडारीपारा में भी पेड़ गिरने की घटना हो चुकी है। 2017 में बरदेभाठा वार्ड में भी तेज हवा चलने से पेड़ गिर चुका है।   

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना