पुलिस का खुलासा:मां के हत्यारे ने 14 साल जेल में काटे, वहीं लोहार का काम सीखा, मालिक के घर ताले तोड़ आसानी से चुराए 16 लाख

कांकेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बेटे की शादी करने परिवार के साथ रायपुर गए शहर के व्यापारी अशोक राठी के सूने मकान में चोरी के मामले को पुलिस ने करीब एक सप्ताह में सुलझा लिया है। जैसी शुरू से आशंका थी कि व्यापारी की दुकान में काम करने वाला हमाल ही चोर निकला। पुलिस ने आरोपी को देवनारायण सारंगढ़ से गिरफ्तार किया जहां वह अपने साथी के घर छुपा हुआ था। उसके कब्जे से चोरी गए नगद 13.86 लाख में से 4.30 लाख बरामद कर लिए हैं। चोरी गए 2.40 लाख के जेवर भी पुलिस ने बरामद किए हैं। शेष नगद राशि बरामद करने पुलिस आरोपी को रिमांड पर लेगी।

...तभी एक घंटे में आसानी से ताले तोड़ डाले
इस मामले में चोरी का आरोपी अपनी मां की हत्या के आरोप में आजीवन कारावास की सजा काट चुका है। आजीवन कारावास सजा काटने के दौरान जेल में उसे लोहारी काम का प्रशिक्षण दिया गया था। इसलिए उसने आसानी से ताले तोड़ एक घंटे में वारदात को अंजाम दिया था। व्यापारी का कहना है कि हमाल सजायाफ्ता है, यह उन्हें पता था लेकिन उन्होंने समझा कि वह सुधर गया होगा। चोरी का पैटर्न तथा व्यापारी के संदेह से पुलिस को शुरू से अनुमान था कि चोरी में किसी परिचित का ही हाथ है।

राजिम-महासमुंद होते एक्टिवा से भागा सारंगढ़
शहर में लगे अत्याधुनिक कैमरों के सीसीटीवी फुटेज में एक्टिवा में जाता संदिग्ध नजर आया। पुलिस ने चारामा, धमतरी, कुरूद में सीसीटीवी फुटेज खंगाले जिसमें वह नजर आया। कुरूद, राजिम के रास्ते महासमुंद की ओर जाने का सुराग मिला। यहां से वह सारंगढ़ पहुंच अपने एक पुराने साथी के घर छुप गया था। पुलिस ने उसे योजनाबद्ध तरीके से पकड़ा।

ताला तोड़ नकदी, सोने के जेवर और बर्तन चुराए
आरोपी ने बताया कि वह 30 नवंबर की रात एक्टिवा से पहुंचा तथा गेट खोलकर एक्टिवा सहित प्रवेश किया। तिज़ोरी, आलमारी का ताला तोड़ नकदी सहित सोने चांदी के जेवर, बर्तन चोरी किए। आरोपी ने बताया कि जेल में उसने लोहारी कार्य का प्रशिक्षण लिया था जिसके चलते उसे ताला तथा तिजोरी तोड़ने में कोई परेशानी नहीं हुई।

आरोपी कह रहा- 4.50 रुपए लाख ही चुराए
आरोपी का कहना है कि उसके हाथ केवल 4.50 लाख नगद तथा जेवर आए थे। 20 हजार उसने खाने पीने में खर्च कर दिए। शेष 4.30 लाख तथा पूरे जेवर पुलिस को बरामद करा दिए हैं। आरोपी के घर से लाल स्याही, डायरी, ताला तोड़ने में प्रयुक्त औजार कटर, प्लायर, रॉड, हथौड़ी और चोरी में प्रयुक्त एक्टिवा भी जब्त की गई है।

साथियों सहित 50 लोगों से की गई पूछताछ
दुकान में काम करने वाले तथा अन्य कुल 50 लोगों से पूछताछ की। पता चला कि हमाली करने वाला देवनारायण यादव (44 ) निवासी रायगढ़ गायब है। वह अलबेलापारा के घर में नहीं था। उसके घर लाल स्याही से लिखे कागज मिले लगभग वैसे ही जैसे व्यापारी के घर में चोर द्वारा चस्पा किए गए थे। इससे शक पुख्ता हो गया।

घटना को नक्सली रूप देने की थी कोशिश
आरोपी ने चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद प्रार्थी को डराने तथा पुलिस का ध्यान भटकाने इसे नक्सली वारदात का रूप देने कोशिश की थी। नक्सली तर्ज पर लाल स्याही से पुलिस में रिर्पोट दर्ज नहीं कराने धमकी लिखी थी। दिवार पर चार फोटो लगाई।

कर्मियों का विवरण जमा कराएं: एसपी
एसपी शलभ सिन्हा ने कहा कि शहरवासियों को अपने घरों तथा दुकानों में काम करने वालों का विवरण पुलिस थाने में जमा कराना चाहिए। सभी मकान मालिक अपने किराएदारों का भी विवरण जमा कराएं। सीसीटीवी कैमरे लगवाएं।

खबरें और भी हैं...