CG में बीच बाजार घेरकर मुखबिर की हत्या:कांकेर में नक्सलियों ने घेरकर मारा, भगदड़ मची; तीन साल से था पुलिस मुखबिरी के चलते टारगेट पर

कांकेर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वारदात को अंजाम देकर नक्सली भाग निकले हैं। - Dainik Bhaskar
वारदात को अंजाम देकर नक्सली भाग निकले हैं।

छत्तीसगढ़ के बस्तर में पुलिस मुखबिरी के शक में एक और ह्त्या हो गई है। एक दिन पहले नक्सलियों ने इसी वजह से एक युवक को मार दिया था। अब बस्तर संभाग के कांकेर में नक्सलियों ने युवक को गोली मारकर मार दिया। माओवादियों ने उसे बीच बाजार में घेरकर मारा है। घटना के बाद मौके पर भगदड़ मच गई। मामला कोयलीबेड़ा थाना के बदरंगी गांव का है।

कोयलीबेड़ा के गांव बदरंगी में सोमवार को साप्ताहिक बाजार में लगने वाले मुर्गा बाजार में कोयलीबेड़ा निवासी युवक महेश बघेल पहुंचा था। तीन साल पहले युवक व उसके परिवार पर नक्सलियों ने पुलिस मुखबिर होने का आरोप लगाया था। वह नक्सलियों के टारगेट में था और नक्सली उसकी तलाश कर रहे थे।

वारदात को अंजाम देकर भागे नक्सली

वहीं मुर्गा बाजार में आने की जानकारी मिलने पर नक्सली भी शाम 5.30 बजे वहां पहुंचे और उसे घेर लिया। उसके सिर में बंदूक से गोली मारी गई। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। गोली चलते ही वहां भगदड़ मच गई और नक्सली भी वहां से फरार हो गए।

दहशत के चलते छोड़ा था गांव

जानकारी के अनुसार युवक महेश बघेल मूलत: ग्राम पंचायत आलपरस के आश्रित गांव हेटारकसा का रहने वाला था। तीन साल पहले नक्सलियों ने इसके परिवार पर पुलिस मुखबिर होने का आरोप लगाया था। इसके चलते पूरा परिवार गांव छोड़ कर कोयलीबेड़ा में रह रहा था। कोयलीबेड़ा थाना प्रभारी सत्यवान सिंग ने बताया बदरंगी में ग्रामीण को नक्सलियों द्वारा गोली मारने की सूचना मिली है। पुलिस तस्दीक व जांच के लिए जा रही है।

बस्तर में नक्सलियों ने पूर्व ग्राम सेवक की हत्या की:नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी का शक में धारदार हथियार से मार डाला; मानसिक रोगी था

बीजापुर में ग्रामसेवक को धारधार हथियार से मारा था

एक दिन पहले नक्सलियों ने बीजापुर में पूर्व ग्राम सेवक की हत्या कर दी थी। बताया गया था कि शनिवार-रविवार की दरमियानी रात को नक्सली उसके घर पहुंचे थे और धारदार हथियार से उसको मार दिया था। नक्सलियों ने पूर्व ग्राम सेवक पर भी पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया था।

खबरें और भी हैं...