ज्ञापन सौंपा:संबलपुर के ग्रामीण स्कूल में शिक्षक नहीं, पढ़ाई प्रभावित

संगम3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गांव की प्राथमिक व मिडिल स्कूल में सिर्फ एक शिक्षक है पदस्थ

अंदरुनी इलाकों में स्कूल खुलते ही शिक्षकों की कमी सामने आने लगी है। ग्राम पंचायत केसेकोडी के आश्रित ग्राम संबलपुर के ग्रामीणों ने जनपद पंचायत कोयलीबेडा पहुंचकर शिक्षकों की मांग की। संबलपुर के ग्रामीण, पालक गांव के मिडिल व प्राथमिक स्कूल में शिक्षक की मांग को लेकर जनपद व बीईओ ऑफिस पहुंचे। शासन ने अगस्त से ऑफलाइन स्कूल खोलने का आदेश दिया है। लेकिन शिक्षकों की कमी के चलते पढ़ाई प्रभावित हो रही है।

ग्राम संबलपुर के प्राथमिक स्कूल में पहली से पांचवीं तक के 39 बच्चे व मिडिल स्कूल में 89 बच्चे हैं। इसके लिए सिर्फ 1 ही शिक्षक हैं। यहां गणित, विज्ञान के शिक्षक ही नहीं हैं। प्राथमिक और मिडिल में एकल शिक्षक होने के कारण बच्चों की पढ़ाई नहीं हो पा रही है।

घट रही दर्ज संख्या: सरपंच पीलू उसेंडी, ग्रामीण क्षमा दुग्गा, शंभुनाथ उसेंडी, सुंदर नूरूटी, रामप्रसाद, दिलीप, बाजु, अनिल, सुनील, राजबत्ती, सुखबत्ती उसेंडी, दिनेश ने बताया शिक्षकों की कमी से गांव की शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गई है। पिछले वर्ष प्राथमिक स्कूल और मिडिल स्कूल में बच्चों की दर्ज संख्या अधिक थी। एकल शिक्षक के चलते इस शिक्षा सत्र में बच्चों की दर्ज संख्या घट गई है। छात्र दूसरे स्कूलों में दाखिला ले रहे हैं।

खबरें और भी हैं...