पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:कोरोना काल में स्कूलों में नहीं हुई शिक्षकों की भर्ती, अतिथी शिक्षक भी नहीं बनाए गए

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले की स्कूलों में शिक्षकों की बहुत ज्यादा कमी है। हर साल थोड़े शिक्षकों की भर्ती होती थी जिससे कुछ राहत मिलती थी। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलें बंद रही। केवल ऑनलाइन तथा मोहल्ला क्लासें लगी। लेकिन स्कूलों में एक भी शिक्षक की भर्ती नहीं की गई। यही कारण है की जैसे ही स्कूलें नियमित रूप से खुलेंगी शिक्षकों की कमी के चलते शिक्षण कार्य प्रभावित होगा। कोरोना संक्रमण के चलते शिक्षा सत्र 2020-21 में ऑनलाइन कक्षाएं संचालित होती रही। इसके बाद 1 जनवरी से 10वीं तथा 12वीं कक्षा की मोहल्ला क्लासें लगनी शुरू हो गई। लेकिन पुरे सत्र में एक भी नए शिक्षक की भर्ती नहीं हुई। जिले की हाईस्कूलों में व्याख्याता के 644 पद स्वीकृत हैं जिसमे से 180 पद रिक्त पड़े हैं। हाईस्कूल में प्राचार्य के 109 पद स्वीकृत हैं जिसमे से 103 पद रिक्त पड़े हैं। प्राचार्यों के केवल 6 पद भरे हुए हैं। हायर सेकेंडरी स्कूल में व्याख्याता के 1710 पद स्वीकृत हैं जिसमे से 273 पद रिक्त पड़े हैं। हायर सेकेंडरी में प्राचार्य के स्वीकृत 135 पदों में से केवल 31 पद पर कार्यरत हैं जबकि 84 पद रिक्त पड़े हैं।

शासन स्तर पर होती है भर्ती
जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पांडेय ने कहा शिक्षकों की भर्ती शासन स्तर पर ही होनी है। इस शिक्षा सत्र में काेरोना संक्रमण के कारण कोई भर्ती नहीं हो पाई है। उम्मीद है शीघ्र ही शासन स्तर से भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। शासन द्वारा व्यापम से 2019 में हाईस्कूल, हायर सेकेंडरी स्कूलों के लिए व्याख्याताओं की भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसके परिणाम भी आ गए थे। लेकिन इसके आगे की प्रक्रिया नहीं हो पाई।

अतिथि शिक्षक भी नहीं
कोरोना के कारण इस बार सरकार ने कोई नई भर्ती तो नहीं की साथ ही हर साल हाईस्कूल व हायर सेकेंडरी में पढ़ाने के लिए नियुक्त किए जाने वाले अतिथि शिक्षकों की भी भर्ती नहीं की गई। अौसतन जिले में 200 अतिथि शिक्षकों की भर्ती होती थी जो कोरोना काल में बेरोजगार बने रहे। अतिथि शिक्षक विधा मितान संघ जिलाध्यक्ष मीना ने कहा अब तो स्कूल में बच्चो को पढ़ाया जा रहा है। अतिथि शिक्षकों की भर्ती करना चाहिए।

ये प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शालाओं की स्थिित
जिले के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शालाओं में में शिक्षकों के पद रिक्त पड़े हैं। प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक के स्वीकृत 3135 पदों में से 76 पद रिक्त हैं। प्रधानाध्यापक के स्वीकृत 1591 पदों में से 919 पद रिक्त हैं। पूर्व माध्यमिक शाला में स्वीकृत शिक्षकों के 2383 पदों में से 777 पद रिक्त हैं। प्रधानाध्यापक के स्वीकृत 608 पदों में से 174 पद रिक्त हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें