कोरोना वारियर्स पर हमला / क्वारेंटाइन युवक ने बीमारी का बहाना बना स्वास्थ्य कर्मी को सेंटर बुलाया और उसे पीट दिया, केस दर्ज

आरोपी युवक और उसका परिवार मुसुरपुट्टा क्वारेंटाइन सेंटर में। आरोपी युवक और उसका परिवार मुसुरपुट्टा क्वारेंटाइन सेंटर में।
X
आरोपी युवक और उसका परिवार मुसुरपुट्टा क्वारेंटाइन सेंटर में।आरोपी युवक और उसका परिवार मुसुरपुट्टा क्वारेंटाइन सेंटर में।

  • बिजली कर्मचारी है आरोपी, क्वारेंटाइन पूरा होने के बाद होगी गिरफ्तारी

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 06:51 AM IST

कांकेर/दुधावा. क्वारेंटाइन सेंटर में कोरोना वारियर्स के साथ दुर्व्यवहार व मारपीट का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। पखांजूर में दुर्व्यवहार व मुड़पार में धमकी देने की घटना के बाद दुधावा इलाके के एक क्वारेंटाइन सेंटर में कोरोना वारियर्स स्वास्थ्य कर्मी के साथ मारपीट की गई। दुधावा थाने में इसकी शिकायत दर्ज की गई है। स्वास्थ्य कर्मी को रात में बीमारी का बहाना कर बुलाया और पिटाई कर दी।
कांकेर के उदयनगर में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसे कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया था। उदयनगर में निवासरत बिजली कंपनी में कर्मचारी प्रहलाद साहू को परिवार सहित उसके गृहग्राम मुसुरपुट्टा के क्वारेंटाइन सेंटर में रख दिया गया था। इसी बात को लेकर वह नाराज चल रहा था। 31 मई की रात प्रहलाद साहू के पिता गंगाराम साहू ने मुसुरपुट्टा की महिला ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक अनसुईया शोरी को फोन कर बताया कि प्रहलाद साहू की धड़कन काफी बढ़ गई है। सूचना मिलते ही स्वास्थ्य संयोजक ने तत्काल मुसुरपुट्टा उपस्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ पुरूष ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक राजेंद्र कुमार मरकाम को इसकी सूचना दी। दोनों ग्राम पंचायत सरपंच, उप सरपंच व वार्ड पंच के साथ क्वारेंटाइन सेंटर पहुंचे। जांच में प्रहलाद साहू स्वस्थ पाया गया।
इसी दौरान प्रहलाद साहू ने ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक को पकड़ लिया तथा उसे अपशब्द कहते हुए उसके हाथ को मोड़ लात घूंसों से मारपीट शुरू कर दी। चपरासी ने संयोजक को बचाया। जैसे तैसे संयोजक ने सेंटर से बाहर निकल अपनी जान बचाई। घटना में उसके हाथ, कंधा, अंगूठा व अन्य जगह चोटें आई है। सोमवार को पीडि़त ने अपने स्वास्थ्य कर्मी साथी के साथ दुधावा थाना पहुंच शिकायत दर्ज कराई। 

घटना के बाद सेंटर से बाहर निकला आरोपी 
घटना के बाद मारपीट करने वाला आरोपी प्रहलाद साहू जोर-जोर से चीखते चिल्लाते हुए कहने लगा वह कोई कैदी नहीं है जो उसे यहां बंद कर रखा गया है। स्वास्थ्य कर्मचारी के बाहर आने पर उसके पीछे-पीछे वह मारपीट करने क्वारेंटाइन सेंटर से बाहर आ गया। फिर कहने लगा कि वह यहां नहीं रहेगा। चाहे जो करना है कर लो। जहां शिकायत करना है कर लो। इसके बाद ग्रामीणों ने उसे समझाबुझा कर वापस सेंटर भेजा।

शासकीय कार्य में बाधा व महामारी एक्ट में केस
दुधावा थानाप्रभारी रविशंकर साहू ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मी के साथ मारपीट करने के मामले में आरोपी युवक के खिलाफ धारा 294, 186, 353,188, 269, 270, 271 तथा महामारी एक्ट 1897 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। युवक के क्वारेंटाइन का समय पूरा होने के बाद उसकी गिरफ्तारी की जाएगी। अभी मामले की जांच भी की जा रही है।

क्वारेंटाइन लोगों ने मुड़पार व देवपुर में भी पंचायतकर्मियों को दी थी धमकी
क्वारेंटाइन सेंटर में देखरेख के लिए तैनात किए गए पंचायत कर्मियों के साथ भी इसी तरह दुर्व्यवहार की घटना हुई थी। पखांजूर इलाके के ग्राम पंचायत देवपुर में दिल्ली से आए युवक को क्वारेंटाइन सेंटर में रखने के बाद उसे दूसरी जगह रखने के लिए उसके साथियों ने ग्राम पंचायत सचिव से अपशब्द कहते हुए उससे दुर्व्यवहार उसे कर देख लेने की धमकी दी थी। शिकायत पंखाजूर पुलिस में की गई है। मुड़पार के क्वारेंटाइन सेंटर में रह रही दिल्ली से आई सरोना रेंजर की पत्नी ने एसी व अटैच लेट बाथ की मांग करते पंचायत कर्मियों को धमकी दी थी। चारामा विकासखंड के ग्राम गिरहोल में भी इसी तरह एक युवक पंचायत कर्मियों की बात न मान सेंटर से घर भाग गया था। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना