बड़ी राहत:आज से आरटीपीसीआर जांच और नया कोविड अस्पताल शुरू

कांकेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ईमलीपारा में आज से 236 बेड वाला कोविड अस्पताल शुरू होगा। - Dainik Bhaskar
ईमलीपारा में आज से 236 बेड वाला कोविड अस्पताल शुरू होगा।
  • इमलीपारा में आज से शुरू होगा 236 बेड वाला नया कोविड अस्पताल, आरटीपीसीआर जांच के 24 घंटे में मिल जाएगी रिपोर्ट

अब तक कोरोना की आरटीपीसीआर जांच कांकेर में नहीं होती थी। यहां से सैंपल लेकर जांच के लिए मेडिकल कालेज जगदलपुर भेजे जाते थे। वहां से रिर्पोट आने में 4 से 5 दिनों तक का समय लग जाता था। इसके चलते कोरोना जांच के लिए लोगों को परेशानी होती थी।

अब कांकेर के लोगों को कोरोना की आरटीपीसीआर जांच के लिए परेशानी नहीं होगी क्योंकि 30 अप्रैल से कांकेर में ही यह जांच होना शुरू हो जाएगी। प्रतिदिन 500 लोगों की कोरोना जांच यहां हो सकेगी। इससे जिले के मरीजों को आरटीपीसीआर जांच की रिर्पोट 24 घंटे में ही मिल जाएगी। यही नहीं अब कांकेर में एक और नया कोविड डेडिकेटेड अस्पताल शुरू हो रहा है जहां आईसीयू, एचडीयू, आक्सीजन समेत सामान्य बेड भी होंगे। इस अस्पताल के खुल जाने से कांकेर में कोरोना मरीजों के लिए बेड 200 से बढ़कर 436 हो जाएंगे।

कांकेर जिला अब तक आरटीपीसीआर जांच के लिए अन्य जिलों पर आश्रित था। यही कारण है की अब तक कांकेर जिले के लोगों को कोरोना की आरटीपीसीआर जांच कराने के बाद रिर्पोट के लिए चार से पांच दिनों का इंतजार करना पड़ता था। इससे कोरोना का इलाज देरी से शुरू होता था। लोगों की इस परेशानी को देखते कांकेर में भी आरटीपसीआर जांच शुरू कराने प्रयास किया जा रहा था। कांकेर कलेक्टर चंदन कुमार के प्रयास से कांकेर में ही आरटीपीसीआर जांच 30 अप्रैल से शुरू हो रही है तथा अब मरीजों को 24 घंटे में रिपोर्ट मिल जाएगी।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा जेएल उईके ने बताया भारतीय चिकित्सक अनुसंधान परिषद आईसीएमआर नई दिल्ली द्वारा कांकेर जिले के नव निर्मित वायरोलॉजी लैब में कोविड 19 की आरटीपीसीआर जांच करने अनुमोदन कर दिया गया है। मेडिकल कॉलेज कांकेर के लिए वर्तमान में प्रस्तावित भवन ग्राम नांदनमारा के जीएनएम नर्सिंग प्रशिक्षण केन्द्र में 2 करोड़ 50 लाख की लागत से वायरोलॉजी लैब बनाया गया है।

ये भी जानिए, कोरोना मरीजों के लिए बढ़े 236 बेड

30 अप्रैल को कांकेर को एक नहीं दो बड़ी सौगातें मिलने जा रही है। अब तक कांकेर जिले में एक ही डेडिकेटेड कोविड अस्पताल अलबेलापारा कांकेर में था जहां 200 बेड थे। यहां बेड तो पर्याप्त हैं लेकिन वेंटिलेटर तथा आक्सीजन वाले बेड कम पड़ते थे। यही कारण है ईमलीपारा हास्टल भवन में नया डेडिकेटेड कोविड अस्पताल 30 अप्रैल से शुरू हो रहा है। इस नए अस्पताल में 16 आईसीयू बेड, 30 एचडीयू बेड, 150 ऑक्सीजन बेड और 40 सामान्य बेड की व्यवस्था है। नए अस्पताल का निरीक्षण करते संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी ने अस्पताल में ऑक्सीजन की उपलब्धता और चिकित्सकों की व्यवस्था और अस्पताल की साफ सफाई की जानकारी लेते कहा मरीजों को अन्य जिले में उपचार के लिए नहीं जाना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...