• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Kanker
  • The Paper Of Recruitment Examination In The Health Department Was Sold For 60 60 Thousand Rupees, The Conversation Record Of The Broker With The Candidates For The Purchase Of Paper

भर्ती पर सवाल:स्वास्थ्य विभाग में भर्ती परीक्षा का पेपर 60-60 हजार रुपए में बिका, पर्चा खरीदी के लिए अभ्यर्थियों से दलाल की बातचीत रिकॉर्ड

कांकेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्वास्थ्य विभाग में चार प्रकार के पदों में भर्ती के लिए आयोजित की गई परीक्षा से पहले ही दलालों ने उसके पेपर आउट कर दिए। एक-एक प्रकार के पद के पेपर के लिए 41 से 60 हजार रुपए में डील की गई। दलाली कर रहे लोगों ने कुछ अलग अलग अभ्यर्थियों से फोन पर ही इसकी डील कर ली। जिसकी कुछ रिकॉर्डिंग भास्कर के पास मौजूद है।

इसमें ही पेपर की खरीदी बिक्री की पूरी जानकारी देने के साथ ही प्रशासन के सरकारी अधिकारी कर्मचारियों के होने की भी बात कही गई है। लेकिन ये कर्मचारी स्वास्थ्य विभाग से बाहर के हैं, जिनके द्वारा भर्ती परीक्षा के लिए पेपर सेट करना बताया गया है। इतना ही नहीं, इस भर्ती प्रक्रिया में यह बात भी सामने आई है कि दक्षिण बस्तर में पदस्थ एक चतुर्थ वर्ग श्रेणी का सरकारी कर्मचारी भी अलग से दलाली करते इसमें संलिप्त है, जो परीक्षा के दौरान से दलाली करने अवकाश लेकर कांकेर जिला में आया हुआ है। जो सीधे पद में भर्ती के लिए भर्ती समिति से अपनी सांठगांठ होने का हवाला देकर अभ्यर्थियों से तीन लाख रुपए मांग रहा है। इसकी भी कॉल रिकॉर्डिंग अभ्यर्थियों ने कर रखी है। ऑडियो सामने आने के बाद भर्ती प्रक्रिया में की जा रही गड़बड़ी तो सामने आ गई है लेकिन इसमें कौन कौन अधिकारी कर्मचारी शामिल हैं उन्हें सामने लाने के लिए पूरे मामले की बारीकी व गंभीरता से निष्पक्ष जांच की जरूरत है।

ये हैं दलाल व पात्र अभ्यर्थियों के बीच हुई डीलिंग की बातें
अभ्यर्थी- डीएमएफ की भर्ती का कुछ जुगाड़ है क्या?

दलाल- तुम्हारे पास तो जुगाड़ है क्या? अभी तो बोल रहे थे जुगाड़ है?

अभ्यर्थी- नहीं है सर।
दलाल- अरे जब पैसा देगा तभी वह पेपर देगा।

अभ्यर्थी- कितना लगेगा?
दलाल- 50 से 60 हजार रुपए बोल रहे हैं। 30 प्रश्न मिलेंगे।

अभ्यर्थी- माइनस मार्किंग होगी क्या?
दलाल- ये तो पूछा नहीं हूं। लेकिन पेपर मिल जाएगा।

अभ्यर्थी- टोटल कितना लगेगा?
दलाल- 50 से 60 हजार रूपए। तुम्हारे स्टॉफ वाले लोग भी दिए हैं क्या?

अभ्यर्थी- मुझे पता नहीं।
दलाल- पेपर दे रहे हैं। इसमें 30 के 30 प्रश्न पूरे होंगे। अभी रात भर है। लेकिन पैसा देना पड़ेगा।

अभ्यर्थी- सर मेरे पास पैसे नहीं है।
दलाल- इसीलिए तो पहले पूछा था। तब कह रहे थे मेरे पास जुगाड़ है।

अभ्यर्थी- आपको कैसे पता चला कि पेपर मिल रहा है?
दलाल- जो पेपर बना रहा है वो ही बताया है। उन लोग पहले से प्लानिंग किए होंगे।

अभ्यर्थी- आपको कैसे पता चला?
दलाल- अन्य जिले में मेरा दोस्त ही पेपर बना रहा है।

अभ्यर्थी- बिना पैसा के पेपर नहीं मिल पाएगा?
दलाल- नहीं ऐसे कैसे मिलेगा, मैं 50 तक करा दूंगा।

17 को हुई थी लिखित परीक्षा
स्टाफ नर्स, लेब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट तथा ड्रेसर की संविदा भर्ती के लिए 11 अगस्त 2020 को विज्ञापन निकाला गया था। 31 अगस्त तक आवेदन लिए गए। लेकिन कोरोना के चलते साल भर बाद 1 अगस्त 2021 को पात्र अपात्र की सूची निकाल 16 अगस्त तक दावा आपत्ति मंगाए गए थे। 8 सितंबर को अंतिम सूची निकाली गई। जिसके बाद 17 सितंबर को कॉलेज में पद के अनुरूप लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी ।

दलाल से बातचीत में कर्मचारी का जिक्र
अभ्यर्थियों से बात कर रहा दलाल बार बार इशारा कर रहा है कि इसमें सरकारी कर्मचारी भी शामिल है। जिन्हें ही पैसा देने पर ही पेपर मिलेगा। इसके बाद भी पूरी सेटिंग हो जाएगी।