पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निसंतान दंपती दत्तक ग्रहण केंद्र का लगा रहे हैं चक्कर:सोशल मीडिया पर बच्ची गोद लेने का वायरल मैसेज फर्जी

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने वाले कोरोना महामारी जैसे गंभीर हालात में भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दो बच्चियों को गोद लेने की अपील की है गई है। कहा गया कि इनके मां बाप की कोरोना से मौत हो गई।

निसंतान दंपती बच्चे की लालच में उस नंबर पर कॉल कर रहे हैं। कॉल नहीं लगने पर दत्तक ग्रहण केंद्र के चक्कर लगा परेशान हो रहे हैं। मई माह की पहली तारीख से यह मैसेज वायरल हो रहा है। जिले के अधिकांश वाट्सएप ग्रुपों में यह मैसेज भेजा गया है। कहा गया है जिस किसी सज्जन व्यक्ति की इच्छा बिटिया गोद लेने की हो वह संपर्क करें। प्रियंका नाम की युवती का मोबाइल नंबर 09711104773 दिया गया है। एक बच्ची की उम्र 3 दिन और दूसरी की 6 महीने बताई गई है। मैसेज हिंदी व अंग्रेजी दोनों में है। लेकिन जब गोद लेने के लिए जब महिला बाल विकास से संपर्क करते हैं तब पता चलता है कि मैसेज फर्जी है।

सिम प्रियंका जैन दिल्ली के नाम से रजिस्टर्ड
भास्कर ने जब कथित प्रियंका को दिए गए नंबर पर कॉल किया तो कॉल नहीं लगा। फिर पता चला कि सिम प्रियंका जैन, दिल्ली के नाम से पंजीकृत है।

एक 3 दिन की तो दूसरी की उम्र 6 माह कैसे?
मैसेज में दोनों बच्चियां को एक ही मां बाप की बताई गई हैं जो संभव नहीं। यदि एक बच्ची 3 दिन की है तो दूसरी छह माह की कैसे हो सकती है। यदि वह प्रिमैच्योर बेबी है तो भी उसे साढ़े सात माह का होना चाहिए।

मैसेज गलत और गैर कानूनी भी
जिला कार्यक्रम अधिकारी केके टंडन ने बताया जिले में बच्चा गोद लेने सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल होने की सूचना मिली है। यह पूरी तरह गलत व गैर कानूनी है। इससे बचें।

फर्जी मैसेज के चक्कर में न पड़ें, हमें दे सूचना
जिला बाल संरक्षण अधिकारी रीना लारिया ने कहा कि बच्चा गोद लेने के लिए इस तरह के फर्जी मैसेज के चक्कर में न पड़ें। बच्चा गोद लेने कानूनी रूप से ऑनलाइन प्रक्रिया से होकर गुजरना होता है।

खबरें और भी हैं...