ग्रामीणों ने लिया फैसला / कोरोना के दस्तक देते ही गांवों में साप्ताहिक बाजार बंद हुआ

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कांकेर. जिले मेंं कोरोना के दस्तक देते ही गांवों में लगने वाले साप्ताहिक बाजार एक बार फिर बंद कराने का सिलसिला शुरू हो गया है। ग्राम कुरना के पंचायत प्रतिनिधियों ने बैठक कर साप्ताहिक बाजार बंद कराने का निर्णय लिया। माकड़ी खूना, भीरावाही में भी बाजार नहीं लगाने का निर्णय लिया गया है। 
देश में कोराना की दस्तक के बाद लाॅकडाउन की घोषणा होते ही जिले के साप्ताहिक बाजार बंद करा दिए गए थे। काफी दिनों तक कांकेर जिला कोरोना से मुक्त रहा तो धीर-धीरे बाजार खुलने लगे थे तथा दिनचर्या सामान्य होने लगी थी। दो दिनों में ही जिले में 5 कोरोना पाॅजिटिव मिलने से फिर से गांव-गांव में साप्ताहिक बाजार बंद कराने का सिलसिला शुरू हो गया है। ग्राम पंचायत कुरना में सोमवार को लगने वाला साप्ताहिक बाजार बंद रखने का निर्णय लिया गया। बैठक में सरपंच छबिला कुंजाम, उपसरपंच रमेश सार्वा, बलदाऊ साहू, तोरन शर्मा, उमेश साहू, राजेश्वर साहू, दुमेश साहू, लक्ष्मण साहू उपस्थित थे। उपसरपंच रमेश सार्वा ने कहा सोमवार को लगने वाला कुरना का साप्ताहिक बाजार अनिश्चितकाल के लिए बंद रहेगा। ग्राम माकड़ी खूना में मंगलवार को बड़ा बाजार लगता है। माकड़ी खूना सरपंच सुभाष नरेटी ने कहा इस सप्ताह मंगलवार को बाजार नहीं लगाने का निर्णय लिया गया है। भीरावाही में बुधवार को साप्ताहिक बाजार लगता है। पंचायत ने यहां भी बाजार बंद करने का निर्णय लिया है।
शुक्रवार को साप्ताहिक बाजार बंद रहे
शुक्रवार को भानबेड़ा, हाटकोंदल, दूर्गकोंदल में साप्ताहिक बाजार लगता था। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण इन जगहों पर साप्ताहिक बाजार बंद रहे। ग्राम ताड़ोकी में लाॅकडाउन शुरू होने के बाद से अब तक साप्ताहिक बाजार बंद है। शुक्रवार को कांकेर शहर में कोरोना मरीज मिलने के बाद तत्काल दोपहर में ही साप्ताहिक बाजार बंद करा दिया गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना