पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की बात:पहाड़ को काटकर 140 ग्रामीणों ने 77 दिन में बनाई 2 किलोमीटर लंबी सड़क

कवर्धाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बरसात के 4 महीने कट जाता था संपर्क, पंडरिया ब्लॉक के दूरस्थ बैगा बाहुल गांव अधचरा व भेलकी में आवागमन हुआ आसान, दो गांवों के बीच फासले हुए कम

पंडरिया ब्लॉक के दूरस्थ बैगा बाहुल गांव भेलकी और अधचरा में बरसात के 4 महीने (जून से सितंबर तक) संपर्क कट जाता था। राशन लेने में भी असुविधा होती थी। समस्या को देखते हुए दोनाें गांव के 140 ग्रामीणों ने पहाड़ को काट कर 77 दिन (11 सप्ताह) में 2 किमी लंबी सड़क बनाई है।

इससे दोनों गांव के बीच फासले कम होने से आवागमन आसान होगी। पहाड़ों के बीच से सड़क बनाने की मांग लंबे समय से की जा रही थी। इस पर महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के जरिए 18 लाख 17 हजार रुपए की स्वीकृति मिली। अप्रैल 2021 में पहाड़ों के बीच घाट कटिंग का काम शुरू हुआ, जिसमें दोनों गांव के 140 लोगों को रोजगार मिला। लॉकडाउन के दौरान जहां सब कुछ बंद था और गांव के बाहर काम का कोई साधन नहीं था, तब ग्रामीणों ने मिलकर यह सड़क बनाई, जिसमें गड्‌ढे नहीं होंगे।

दोनों गांव की 400 आबादी को सीधे तौर पर मिलेगा लाभ
जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम के ने बताया कि भेलकी के ग्रामीणों की मांग पर अधचरा से भाकुर के बीच में पहाड़ काटने का काम जल्द ही पूरा हो जाएगा। सड़क बनने से दोनों गांव की लगभग 400 आबादी को सीधे तौर पर इसका लाभ मिलेगा।

कार्य में लगे ग्रामीणों को 10 लाख रु. मजदूरी भुगतान
घाट कटिंग व सड़क निर्माण कार्य के लिए 18 लाख 17 हजार रुपए स्वीकृत हुआ था। यह स्वीकृति ग्राम पंचायत भेलकी के लिए मिली थी, जिसमें 140 ग्रामीणों को काम मिला। कार्य 11 सप्ताह तक चला और यह लगभग पूरा होने वाला है। कार्य में लगे ग्रामीणों को सड़क सुविधा के साथ मजदूरी के रूप में 10 लाख 19 हजार रुपए भुगतान किया गया है।

पहाड़ों के बीच से आने-जाने में हो रही थी परेशानी
नीचे अधचरा गांव है, जहां 93 परिवार रहते हैं। अधचरा के ग्रामीणों को मुख्य मार्ग पहुंचने के लिए 2 किलोमीटर पैदल पगडंडी से जाना पड़ता था। इसकी चौड़ाई बहुत कम थी, जिसमें बहुत गड्ढे हो गए थे और पथरीला होने के कारण आवागमन बहुत मुश्किल था। ग्रामीण आवागमन के लिए जंगलों का सहारा लेते हुए पथरीले व टेढ़े-मेढ़े गड्ढों के साथ जोखिम से भरे पहाड़ों के बीच से आना-जाना करते थे, जो उनके लिए बहुत कष्टदायी था। मुख्य मार्ग पर स्थित ग्राम भेलकी है। घाट कटिंग होकर सड़क बन जाने से अधचरा और भेलकी के ग्रामीणों को आने-जाने में सहूलियत होगी।

खबरें और भी हैं...