पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खरीदी लॉक:4500 किसान नहीं बेच सके धान फिर भी लक्ष्य से 1.34 लाख क्विं. ज्यादा खरीदी

कवर्धा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कबीरधाम में चालू सीजन में 38 लाख क्विंटल धान खरीदी का था लक्ष्य

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए 31 जनवरी तक समय तय है, लेकिन शनिवार- रविवार होने से 29 दिसंबर को यानी दो दिन पहले ही धान खरीदी बंद हो गई। खरीदी बंद होने से साढ़े 4 हजार किसान 12.76 करोड़ रुपए का धान नहीं बेच पाए हैं। फिर भी कबीरधाम जिले में तय लक्ष्य से 1.34 लाख क्विंटल अधिक धान खरीदी हो गई है। कबीरधाम जिले में समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए 1,00433 किसानों ने अपना पंजीयन कराया था। कुल 1,10241 (272411 एकड़) रकबे का पंजीयन किया गया। पंजीकृत रकबे के आधार पर जिले में 38 लाख क्विंटल धान खरीदी का टारगेट रखा गया था। 1 दिसंबर से जिले के 94 केंद्रों के जरिए धान खरीदी शुरु हई । खरीदी के अंतिम दिन 29 जनवरी तक कुल पंजीयन में से 95,929 किसानों से धान खरीदी हुई है, जो कि कुल पंजीयन का 95.51 प्रतिशत है । इन किसानों से 39,34698 क्विंटल धान खरीदी की गई है। जबकि पंजीकृत 4504 किसान धान नहीं बेच पाए हैं ।

छूटे किसानों व रकबे की समीक्षा नहीं
कुल पंजीकृत रकबे में 1378 हेक्टेयर यानी 3405 एकड़ रकबे की धान खरीदी नहीं हो पाई है। अगर प्रति एकड़ 15 क्विंटल के हिसाब से खरीदी होती, तो किसानों को 12.76 करोड़ रुपए मिलता। खास बात यह है कि खरीदी से वंचित किसानों व रकबे की समीक्षा भी नहीं की जाती है। यह विचारणीय पहलू है।

अंतिम दिन 126 किसानों ने धान बेचा
जिले में 29 जनवरी को धान खरीदी का अंतिम दिन था । खरीदी के आखिरी दिन 126 किसानों से 3520 क्विंटल धान खरीदी की गई । इस तरह जिले में कुल 39,34698 क्विंटल धान खरीदी हुई है । इनमें 9,26372 क्विंटल मोटा धान, 22,95728 क्विंटल पतला और 7,12597 क्विंटल सरना धान है ।

खरीदी केंद्रों में बीस लाख क्विं. धान जाम
कबीरधाम जिले के 94 केंद्रों में 20 लाख क्विंटल धान जाम पड़ा है । जिले में पंजीकृत 51 राइस मिलों ने कस्टम मिलिंग के लिए केंद्रों से 11,15410 क्विंटल धान का उठाव किया है। कस्टम मिलिंग कर नागरिक आपूर्ति निगम में 2,86910 क्विंटल चावल जमा किया है । वहीं खरीदी केंद्रों से 8,45320 क्विंटल धान का परिवहन कर जिले के दोनों संग्रहण केंद्रों में सुरक्षित रखवाए गए हैं ।

17 हजार नए किसानों का पंजीयन हुआ: शर्मा
खरीफ विपणन वर्ष 2020- 21 में समर्थन मूल्य पर धान बेचने 100433 किसानों का पंजीयन हुआ था। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा बताते हैं कि इनमें से 17028 किसानों ने 11593 हेक्टेयर रकबे का नया पंजीयन कराया था। पंजीयन रकबे में त्रुटि होने पर 2955 किसानों का 1425 हेक्टेयर धान रकबा का संशोधन किया गया। खरीदी के आधार पर बैंक के जरिए किसानों को 761.89 करोड़ रु. का भुगतान किया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें