कोरोना / कवर्धा में 5 नए कोरोना पॉजिटिव मिले बेमेतरा में भी पहला केस आया सामने

पॉजिटिव मिले व्यक्ति को एंबुलेंस से रायपुर के माना हॉस्पिटल रवाना किया। पॉजिटिव मिले व्यक्ति को एंबुलेंस से रायपुर के माना हॉस्पिटल रवाना किया।
X
पॉजिटिव मिले व्यक्ति को एंबुलेंस से रायपुर के माना हॉस्पिटल रवाना किया।पॉजिटिव मिले व्यक्ति को एंबुलेंस से रायपुर के माना हॉस्पिटल रवाना किया।

  • कवर्धा के पोलमी में मिले केस में से दो रसोइया, एक सरपंच पति और एक किराना व्यवसायी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कवर्धा/बेमेतरा. कबीरधाम जिले के वनांचल ग्राम पोलमी में 5 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। शुक्रवार देर रात 9 बजे एम्स रायपुर से इसकी पुष्टि हुई। पॉजिटिव मिले लोगों में से दो रसोईया है, तीसरा सरपंच पति और चौथा किराना व्यवसायी है। ये सभी 17 मई को पोलमी क्वारेंटाइन सेंटर में संक्रमित मिले उस युवक के संपर्क में आए थे, जो मुंबई से 7 शहरों की सरहद तय कर पोलमी पहुंचा था। 
पांचवां संक्रमित उसके खुद का पिता है, जो क्वारेंटाइन के दौरान उससे मिलने पहुंचा था। पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने तुरंत गांवों को सील कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव के लिए रवाना की जा रही है। गंभीर बात यह है कि पॉजिटिव पाए गए पांचों लोग क्वारेंटाइन से बाहर से हैं। संक्रमितों में से दो लोग रसोइया है, जो बालक छात्रावास पोलमी में पदस्थ हैं। ये दोनों पास के क्वारेंटाइन सेंटर में रुके श्रमिकों के लिए भोजन पकाते थे, जहां से 17 मई को मुंबई से लौटा युवक पॉजिटिव मिला था। इस तरह से ये दोनों संक्रमित के संपर्क में आ गए।  रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने तुरंत गांवों को सील कराया। सीएमएचओ डॉ. एसके तिवारी ने बताया कि रात में ही पॉजिटिव मिले लोगों को एम्स रायपुर शिफ्ट कर दिया जाएगा ।
बेमेतरा के बोड़तरा में मिला मरीज, 4 दिन पहले पत्नी व बच्चों के साथ आगरा से लौटा
इधर बेमेतरा के नवागढ़ जनपद के ग्राम बोड़तरा क्वारेंटाइन सेंटर में जिले का पहला कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसकी पुष्टि कलेक्टर शिव अनंत तायल ने की । संक्रमित व्यक्ति चार दिन पहले यानी 18 मई को अपनी पत्नी और 3 साल के बच्चे के साथ आगरा (उत्तरप्रदेश) से लौटा था। संक्रमित मिलने पर पूरे गांव को सील कर दिया गया है । 
नाकेबंदी कर गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। साथ ही लोगों को गांव से बाहर न निकलने हिदायत दी गई है। मिली जानकारी के मुताबिक संक्रमित व्यक्ति की उम्र 35 वर्ष है। लॉकडाउन के बाद वह अपनी पत्नी और 3 साल के बच्चे के साथ आगरा से ट्रक में 18 मई को बेमेतरा पहुंचा था । ग्राम बोड़तरा के क्वारेंटाइन सेंटर में तीनों क्वारेंटाइन में थे। पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल ने बताया कि बोड़तरा गांव के सभी मार्गों में नाकेबंदी कर दी गई है। कोई भी व्यक्ति गांव में प्रवेश नहीं करेगा। स्वास्थ्य विभाग और पुलिस महकमे के अधिकारी व कर्मचारी ड्यूटी पर लगाए गए हैं । संक्रमित को देर शाम रायपुर स्थित माना हॉस्पिटल में भर्ती के लिए रवाना किया गया। जिपं सीईओ रीता यादव ने बताया कि बोड़तरा सेंटर में कुल 74 प्रवासी श्रमिक क्वारेंटाइन में हैं । क्वारेंटाइन सेंटर में संक्रमित के संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं। 
रेंडम सैंपलिंग के बाद 11 लोगों को लाए बेमेतरा सेंटर
बोड़तरा गांव में कोरोना मरीज के साथ क्वारेंटाइन सेंटर में कुल 74 मजदूर थे । इसमें से 11 लोगों को बेमेतरा लाईवलीहुड काॅलेज के क्वारेंटाइन सेंटर में लाया गया है । एहतिहात के तौर पर स्वास्थ्य व प्रशासन ने क्वारेंटाइन सेंटर में रुके हुए सभी प्रवासी श्रमिकों का रेंडम सैंपल कराना शुरु कर दिया है । डिप्टी कलेक्टर व जिला नोडल अधिकारी संदीप सिंह ठाकुर ने बताया कि पीड़ित व्यक्ति अपने निजी साधन से आगरा से 17 मई को निकला था, जो 18 मई को गांव के क्वारेंटाइन सेंटर पहुंचा था । इनके संपर्क में आने वाले 11 लोगों को विशेष तौर पर बेमेतरा लाइवलीहुड काॅलेज में क्वारेंटाइन पर लाया गया है। गांव के 1 किलोमीटर की दूरी तक कड़ी नाकेबंदी कर दी गई है। पूरे गांव को सील कर दिया गया है और सभी का रेंडम सैंपलिंग का का काम भी शुरु कर दिया है।
जिले में पहुंचे 36 मजदूर 
डिप्टी कलेक्टर व जिला नोडल अधिकारी संदीप सिंह ठाकुर ने बताया कि शुक्रवार को 25 प्रवासी श्रमिक बेंगलुरु से दुर्ग रेलवे स्टेशन पहुंचे। इसके अलावा 11 मजदूर अहमदाबाद से बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे। वहां से इन श्रमिकों को बेमेतरा लाया गया। सभी को क्वारेंटाइन सेंटरों में भेजा गया है।  
बोड़तरा में नाकाबंदी की 
बेमेतरा कलेक्टर शिव अनंत तायल ने बताया कि संक्रमित व्यक्ति को रायपुर स्थित माना हॉस्पिटल में शिफ्ट किया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम अलर्ट पर है। बोड़तरा गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। पूरे गांव की कड़ी नाकेबंदी कर दी गई है और अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। 
बिना अनुमति के घरों से नहीं निकलेंगे लोग
बोड़तरा क्वारेंटाइन सेंटर में पॉजिटिव मरीज पाए जाने के बाद जिला प्रशासन ने इसे कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया है। इसमें अत्यावश्यक वस्तुओं व सेवाओं की आपूर्ति आपातकालीन परिस्थितियों को छोड़कर कंटेनमेंट जोन में जाने या आने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। कंटेनमेंट जोन के निवासी बिना सक्षम अनुमति के अपने घरों से बाहर किसी भी परिस्थिति में नहीं निकलेंगे। कंटेनमेंट क्षेत्र में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। क्षेत्र अंतर्गत सभी दुकानें, ऑफिस और अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान अगले आदेश तक पूर्णतः बंद रहेंगे। कंटेनमेंट जोन में सभी तरह के वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। कंटेंनमेंट जोन के निगरानी के लिए लगातार पुलिस पेट्रोलिंग की जाएगी।
कंटेनमेंट जोन के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी 
कंटेनमेंट जोन को सील और गश्त करने के लिए आवश्यक पुलिस व्यवस्था की जिम्मेदारी एसपी बेमेतरा और अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी को सौंपी गई है। कंटेनमेंट जोन में सैनिटेशन की व्यवस्था नगरीय निकाय के सीएमओ, जनपद सीईओ करेंगे। बेरिकेडिंग की व्यवस्था पीडब्ल्यूडी करेगी। कंटेनमेंट जोन में घरों का एक्टिव सर्विलेंस स्वास्थ्य टीम करेगी ।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना