पुलिस की पकड़ में अंतरराज्यीय गिरोह:छह राज्यों में एटीएम कार्ड का क्लोन कर रुपए उड़ाने वाले 5 ठग गिरफ्तार

कवर्धा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गए एटीएम क्लोन कर ठगी करने वाले गिरोह के सदस्य। - Dainik Bhaskar
पकड़े गए एटीएम क्लोन कर ठगी करने वाले गिरोह के सदस्य।
  • यूपी, हरियाणा, एमपी, दिल्ली, तेलंगाना और छग में सक्रिय था गिरोह

दशरंगपुर और सहसपुर लोहारा पुलिस ने शुक्रवार को एटीएम कार्ड का क्लोन कर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के 5 सदस्यों काे गिरफ्तार किया है। लोहारा थाना क्षेत्र में वारदात के बाद ये गिरोह दशरंगपुर के एटीएम में ठगी करने रेकी कर रहे थे। इसी दौरान सीसी कैमरे के जरिए स्थानीय पुलिस ने यह देखा और घेराबंदी कर आरोपियों को दबोच लिया।

बताया जा रहा है कि ये गिरोह उत्तरप्रदेश, हरियाणा, मध्यप्रदेश, दिल्ली, तेलंगाना और छग में पिछले 4 साल से सक्रिय थे। आरोपियों के पास से एक लैपटॉप, एटीएम कार्ड स्कीमर, क्लोनिंग मशीन, 15 नग एटीएम कार्ड और 9 हजार रुपए कैश जब्त किए गए हैं। साथ ही एक लग्झरी कार जब्त की गई है, जिसके जरिए ये गिरोह ग्रामीण क्षेत्रों में घूम-घूमकर भोले-भाले ग्रामीणों को अपना शिकार बनाते थे। आरोपी अफसर पिता मोहम्मद मोबिन खान (22), मनजीत पिता राममूर्ति यादव (26), मोहम्मद इरफान पिता मोहम्मद मुरसीद (35), नजीम अली पिता समुंद खान (35) तीनों जिला प्रतापगढ़ (उप्र) और मिलन पिता जगेश्वर नवरंगे (38) ग्राम मोकपा जिला बलौदाबाजार (छग) का रहने वाला है।

ठगी के लिए स्थानीय नेटवर्क का करते थे इस्तेमाल
इस गिरोह की खास बात यह है कि ठगी के लिए ये स्थानीय नेटवर्क का इस्तेमाल करते थे। गिरोह के 4 सदस्य उत्तरप्रदेश हैं। वहीं मिलन नवरंगे भाठापारा (छग) का रहने वाला है, जो ठगी में गिरोह की मदद करता था। आरोपी मिलन ही वारदात करने गिरोह के लिए गाड़ी उपलब्ध कराता। साथ ही वारदात करने वाली जगह का चुनाव भी वही करता था। चूंकि आरोपी मिलन छग का ही रहने वाला है, इसलिए वारदात के बाद पुलिस से बच निकलने के लिए किन रास्तों से जाना है, उसे अच्छी तरह से मालूम था।

खबरें और भी हैं...