लिया निर्णय:सभी समाज प्रमुख प्रशासन के साथ शहर में आज निकालेंगे शांति मार्च

कवर्धा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शांति समिति की दूसरी बार हुई बैठक, घटना की निंदा की गई

शहर में बीते 5 में बिगड़े हालात को ठीक करने के लिए दूसरी बार शांति समिति की बैठक कलेक्टोरेट में हुई। दूसरी बार भी सर्व समाज के प्रतिनिधियों, जनप्रतिनिधियों व जिला प्रशासन ने मिलकर इस अप्रिय घटना की निंदा की और इस बैठक में यह तय हुआ कि सभी समाज के प्रमुख जिला प्रशासन के साथ मिलकर शहर में 8 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे शांति मार्च करेंगे।

गुरुवार शाम को हुई बैठक में यह भी तय किया गया कि वार्डवार प्रतिनिधि मंडल बनाएंगे। 27 वार्डों में कुल 9 मंडल गठित करेंगे। जो घर-घर जाकर शांति के लिए चर्चा करेंगे। बैठक में लगातार प्रशासन से हुई चूक को लेकर भी बातें सामने आईं। साथ ही बुद्धिजीवियों ने शहर में नए बने राशन कार्ड व आधार कार्ड की जांच करने की मांग भी की। सभी समाज के प्रमुखों ने यह भी तय किया कि वे कानून के दायरे में प्रशासन के साथ एक शांति मार्च करना चाहते हैं, जिससे शहर में जल्द से जल्द कर्फ्यू जैसे हालत समाप्त होने में मदद मिल सके। इस पर सहमति बनी। इस बैठक में कन्हैया अग्रवाल, नपाध्यक्ष ऋषि शर्मा, वरिष्ठ अधिवक्ता अकबर कुरैशी, कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, एसपी मोहित गर्ग व सभी समाज के प्रतिनिधि शामिल थे।

जिला प्रशासन ने पहले खंभे से झंडा निकाला, फिर मंत्री मो. अकबर के निर्देश के बाद दोबारा लगाया
इससे पहले 5 अक्टूबर को दिन में कर्फ्यू लगने के बाद शाम को जिला प्रशासन ने शहर के लोहारा नाका चौक के खंभे पर लगे झंडे को निकाल दिया था। दरअसल, प्रशासन ने शहर के शासकीय संपत्तियों में लगे बैनर-पोस्टर व तमाम ध्वजों को निकालने की योजना पर अमल शुरू किया था। लेकिन लोहारा नाका चौक में झंडा निकाले जाने को लेकर लोगों के बीच चर्चा होने लगी। इस पर मंत्री व स्थानीय विधायक मोहम्मद अकबर ने निर्देश दिए कि झंडा वापस उसी स्थान पर लगा दिया जाए, ताकि सौहार्द कायम रहे। ऐसे में प्रशासन ने दोबारा लिफ्टर के जरिए झंडा वापस लगवाया।

खबरें और भी हैं...