कार्रवाई / चेक बाउंस का मामला, फरार वारंटी व पूर्व पार्षद गिरफ्तार

X

  • आरोपी ने कर्ज लिया था, भुगतान में चेक दिया

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

कवर्धा. कोतवाली थाना कवर्धा क्षेत्र में चेक बाउंस के मामले में फरार स्थायी वारंटी सुरेश वर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी पूर्व में नगर पालिका कवर्धा में पार्षद रह चुका है। 
आरोपी सुरेश पिता डेरहा वर्मा राजमहल कॉलोनी वार्ड-9 का रहने वाला है। आरोपी ने किसी से कर्ज लिया था, जिसका भुगतान चेक के माध्यम से किया था। प्रार्थी ने चेक बैंक में लगाया, लेकिन खाते में पर्याप्त बैलेंस न होने से चेक बाउंस हो गया था। इस पर प्रार्थी में कोर्ट में परिवाद लगाया था। पेशी में लगातार अनुपस्थित रहने पर न्यायालय से उसके खिलाफ स्थायी वारंट जारी हुआ। वारंट तामीली में लगी पुलिस ने सोमवार को उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया। 
पहले भी धोखाधड़ी करने का आरोप लगा : पार्षद पद पर रहते हुए आरोपी सुरेश वर्मा पर पूर्व में भी धोखाधड़ी का आरोप लग चुका है। जनवरी 2019 में वार्ड-26 निवासी सरस्वती बाई पति चैतराम यादव के नाम पर प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ था। तब पार्षद रहे सुरेश वर्मा ने आवास बनाने ठेका लिया था। राशि लेकर निर्माण अधूरा अधूरा छोड़ दिया था। तब थाने में इसकी लिखित शिकायत भी हुई थी। इससे पहले शौचालय निर्माण में भी धोखाधड़ी का आरोप लगा था।

2019 में दोबारा निर्दलीय चुनाव लड़ा, हार गया था 
आरोपी सुरेश वर्मा पिछले पंचवर्षीय नगर पालिका कवर्धा क्षेत्र के मां सतबहनिया वार्ड-9 से पार्षद रह चुका है। उसने कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लगा लड़ा था और पार्षद चुनकर आया। नवंबर-दिसंबर 2019 में हुए नगरीय चुनाव में दोबारा कांग्रेस से टिकट नहीं मिला तो निर्दलीय चुनाव लड़ा, लेकिन हार गया। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना