बोड़ला में प्रशासन ने की सख्ती:कोरोना जांच की बढ़ी रफ्तार, मिले 17 संक्रमित

बाेड़ला8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बोड़ला. कोविड जांच केन्द्र में लोगों की भीड़ दिखी। - Dainik Bhaskar
बोड़ला. कोविड जांच केन्द्र में लोगों की भीड़ दिखी।

कोरोना संक्रमण के बढ़ने के कारण जिला प्रशासन ने अब सख्ती शुरू का दी है। बोड़ला शहर में प्रवेश के लिए कोरोना जांच निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य किया गया है। इसका असर अस्पताल व कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र में दिखने लगा है।

सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में महिला व पुरुषों की भीड़ देखने मिली। ये सभी कोरोना जांच के लिए अपना सारा काम-धाम छोड़कर अस्पताल परिसर में नजर आए। अब सबको अपने काम धंधे में जाने और सफर करने के लिए कोविड-19 का निगेटिव प्रमाण-पत्र चाहिए। इसके बगैर लाेग अपने घर से बाहर नहीं निकल पा रहे।

45 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्ति टीकाकरण में रुचि ले रहे हैं। सोमवार को यहां कुल 203 सैंपल लिए गए, जिसमें 17 संक्रमित पाए गए। इसमें बोड़ला नगर के विभिन्न वार्डों से 9 लोग भी शामिल हैं। इसी प्रकार 75 लोगों ने टीका भी लगवाया है।

बाेड़ला तहसीलदार मनोज रावटे ने बताया कि सोमवार को जांच के दौरान एक कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ मोहरा पारा निवासी व चिल्फी निवासी संक्रमित मिले हैं। ये दोनों मनेंद्रगढ़ से चिल्फी जा रहे थे।

खबरें और भी हैं...