पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लेटलतीफी:विकास कार्यों के लिए मिली लाखों रु. की स्वीकृति, फिर भी कामता में भवन अधूरा

नवागढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शासकीय भवन निर्माण के लिए स्वीकृत राशि का ग्राम पंचायत कामता में बंदरबांट कर दिया गया। ब्लॉक मुख्यालय नवागढ़ से महज 6 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत कामता पहले ग्राम पंचायत मुरकुटा का आश्रित ग्राम रहा है। जहां विकास कार्यों के नाम पर लाखों रुपयों की स्वीकृति मिली। लेकिन धरातल पर काम अधूरा ही रह गया। इसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। अब ग्राम कामता एक स्वतंत्र पंचायत है। इसके बावजूद पंचायत कार्यालय के लिए ग्राम कामता में भवन नहीं है। ग्राम कामता के सरपंच कलेशर वर्मा ने बताया कि मुरकुटा पंचायत के पूर्व सरपंचों ने शासकीय भवनों के निर्माण में गड़बड़ी की है। जिसके चलते सेवा केन्द्र, शासकीय उचित मूल्य की दुकान के लिए भवन सहित अन्य शासकीय भवनों के निर्माण की स्वीकृति मिली। जिस पर काम भी शुरू हुआ, जो अब तक पूरा नहीं हो सका है। ग्रामीणों की मानें तो इन अधूरे कार्यों के बावजूद भुगतान पूरा हुआ है।

खबरें और भी हैं...