पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पंचायत भवन काे घेरा:भोंदा के रोजगार सहायक पर मनरेगा श्रमिकों ने लगाया भेदभाव का आरोप

बोड़ला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक ही काम में दो अलग- अलग नियम

ग्राम पंचायत भोंदा के मनरेगा श्रमिकों ने शनिवार दोपहर 1 बजे अचानक ग्राम पंचायत भवन का घेराव कर दिया। सैकड़ों की संख्या में मजदूर कार्य स्थल से सीधे ग्राम पंचायत भवन पहुंचे, जहां सभी ने एक स्वर में रोजगार सहायक पर भेदभाव बरतने का आरोप लगाते हुए पंचायत के सामने बैठ गए।
मजदूरों ने बताया कि भोंदा में मनरेगा के तहत 9.31 लाख रुपए की लागत से नदी में गाद सफाई कार्य कराई जा रही है। मजदूर भुवन विश्वकर्मा ने बताया कि उक्त कार्य में करीब 333 मजदूर कार्यरत हैं। सभी मजदूर सुबह 9 कार्य स्थल पर पहुंचते हैं और दोपहर 1 बजे के बाद लंच की छुट्टी दी जाती है। जबकि भोंदा के आश्रित ग्राम नवापारा में 9.95 लाख रुपए की लागत से तालाब गहरीकरण का कार्य कराई जा रही है। इस कार्य में रोजगार सहायक छबिलाल नवापारा के मजदूरों से तड़के 4 बजे से सुबह 8 बजे तक काम लेकर छुट्टी दे देता है, जो कि अनुचित है। एक ही काम में दो तरह के नियम बनाकर मजदूरों से भेदभाव किया जा रहा है।
कार्रवाई की मांग: मजदूराें का आरोप है कि सरपंच मंगलीन बाई इन सब बातों की अनदेखी करती हैं। यही नहीं, सचिव व रोजगार सहायक ग्राम पंचायत से गायब रहते हैं। कोई भी काम के लिए ग्राम पंचायत में एक बार में काम नहीं होता। अपने काम के लिए सचिव,सरपंच व रोजगार सहायक का चक्कर काटना पड़ता है। ग्रामीणों ने प्रशासन से इस संबंध में कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।
भेदभाव करना गलत है : सचिव
ग्राम पंचायत भोंदा के सचिव तिऊ प्रद्राम का कहना है कि रोजगार सहायक का भेदभावपूर्ण रवैया गलत है। एेसा करना उचित नहीं है। इस बात की जानकारी मजदूरों से आज ही मिली है। सचिव तिजऊ पंद्राम ने बताया कि वे ग्राम पंचायत कुकरापानी के अलावा भोंदा के अतिरिक्त प्रभार में हैं। इसलिए सोमवार व मंगलवार भोंदा का वर्किंग डे होता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें