ठेकेदारों ने किया विरोध:निविदा प्रक्रिया के अंतिम दिन बंद कर दिया पालिका का दफ्तर

खैरागढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नगर पालिका के नए कार्यकाल पर विवादों की छाया पड़ चुकी है। शुक्रवार को ठेकेदारों ने निविदा प्रक्रिया में घालमेल का आरोप लगाकर एसडीएम को ज्ञापन दिया। ठेकेदार ठाकुर प्रकाश सिंह,तरुण सिंह,आयश सिंह, सतीश छाजेड़, अनिमेष सिंह, जागेश्वर शर्मा सहित अन्य ने एसडीएम को बताया कि शुक्रवार को पालिका में निविदा प्रक्रिया का अंतिम दिन था। कोरोना का हवाला देकर कार्यालय बंद कर दिया। जिसकी वजह से स्थानीय ठेकेदार टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा नहीं ले पाए। इसी को लेकर ठेकेदार पहले नगर पालिका पहुंचे। फिर एसडीएम कार्यालय पहुंचकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपने वालों के साथ भाजपा पार्षद चंद्रशेखर यादव, अजय जैन, पार्षद पति विकेश गुप्ता, कमलेश कोठले, राजेश देवांगन सहित अन्य भी पहुंचे थे। नगर पालिका में ठेकेदारों के पहुंचने के दौरान ब्लॉक कांग्रेस शहर अध्यक्ष भीखम चंद छाजेड़ भी मौजूद रहे।

हालांकि छाजेड़ ने कहा कि इससे मेरा कोई लेना देना नहीं है। सब इंजीनियर और सीएमओ फ़ोन नहीं उठा रहे थे। इसलिए ठेकेदारों और भाजपा वाले एसडीएम के पास ज्ञापन देने गए हैं। पालिका परिसर में इस दौरान कांग्रेस नेता मनराखन देवांगन, सुरेंद्र सोलंकी, पुरुषोत्तम वर्मा,आकाशदीप गोल्डी सहित अन्य मौजूद रहें।

पालिका और सीएमओ पर लग रहा आरोप: दरअसल निविदा के पूरी प्रक्रिया पर आरोप लग रहा है कि कांग्रेस नेताओं के इशारे पर स्थानीय ठेकेदारों को दरकिनार कर कांग्रेस नेता लोगों को निविदा दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। जो गलत है। कार्य में स्थानीय ठेकेदारों को प्राथमिकता मिलनी चाहिए। आरोप है कि स्थानीय ठेकेदारों को सीधे तौर पर दरकिनार किया जा रहा है।

भाजपा नेता के चहेतों ने 15 साल की ठेकेदारी
मामले में कांग्रेस नेताओं का कहना है कि 15 सालों तक भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में भाजपा के नेताओं के चहेतों ने ठेकेदारी की है। कांग्रेसियों ने कहा कि अब सत्ता बदल चुकी है। तो नए लोगों को अवसर मिलना चाहिए । कुल मिलाकर पालिका में नई बॉडी बैठने के बाद पालिका के ठेकों को लेकर खींचतान शुरु हो गई है। पूरे दिन चले विवाद में यही मामला सामने आया।

शहर में जल्द निर्माण कार्यों की शुरुआत होगी
विधानसभा उपचुनाव के पूर्व ही शहर में ढाई करोड़ रुपए से अधिक के निर्माण कार्य शुरू होने हैं इससे पहले भी पांच करोड़ के निर्माण कार्यों की टेंडर प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। ठेकेदारों द्वारा आवेदन नहीं लिए जाने की शिकायत वाले इस टेंडर प्रक्रिया में 14 जनवरी तक टेंडर के लिए आवेदन किया जाना था। आवेदन के आधार पर निविदा प्रपत्र जारी करने की अंतिम तिथि 21 जनवरी निर्धारित है।

  • जानिए, मामले में किसने क्या कहा
  • प्रक्रिया बाधित: ठेकेदार संघ के अध्यक्ष ठाकुर प्रकाश सिंह ने कहा कि यदि कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से प्रक्रिया बाधित हुई है तो ठेकेदारों को नियमानुसार अतिरिक्त समय दिया जाना चाहिए। इसी मांग को लेकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया है।
  • नहीं है जानकारी: नपा अध्यक्ष शैलेंद्र वर्मा ने बताया कि वे खैरागढ़ से बाहर थे। इसलिए उन्हें मामले की जानकारी नहीं है।
  • मैं मौजूद नहीं था: पालिका उपाध्यक्ष अब्दुल रज्जाक खान ने कहा कि वे वहां पर मौजूद नहीं थे। इसलिए उन्हें पूरे मामले की कोई जानकारी नहीं है।
खबरें और भी हैं...