समर्थन मूल्य / धान खरीदी बंद, 5061 टोकन में से 2245 किसानों से खरीदी हुई, 2816 किसान छूटे

Paddy purchase stopped, 2245 out of 5061 tokens purchased from farmers, 2816 farmers left
X
Paddy purchase stopped, 2245 out of 5061 tokens purchased from farmers, 2816 farmers left

  • 1 लाख 97 हजार 813 क्विं. धान खरीदी होनी थी, खरीदे 90 हजार 369 क्विं., बचे 1 लाख 7 हजार 74 क्विं.

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कवर्धा. जिले में इस खरीफ सीजन की धान खरीदी शुक्रवार से बंद हो गई। प्रदेश में यह तीसरी बार है कि धान खरीदी की गई। पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा टोकनधारी किसानों की संख्या कबीरधाम जिले में थी। धान खरीदी देर शाम तक चली। शाम 4 बजे की स्थिति में धान बेचने कई किसान फिर से छूट गए हैं। खाद्य विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार तीसरे चरण अंतर्गत शेष टोकनधारी किसानों की संख्या 5 हजार 61 था। 1 लाख 97 हजार 813.03 क्विंटल धान खरीदी किया जाना था। शुक्रवार 4 बजे की स्थिति में 2244 टोकन धारी से धान खरीदा गया है। इसमें 2816 किसान फिर से छूट गए हैं। वहीं मात्र 90 हजार 813 क्विंटल धान खरीदी हुई। 1 लाख 7 हजार 744 क्विंटल धान शेष है। खाद्य अधिकारी अरुण मेश्राम ने बताया कि धान खरीदी फिर से किए जाने संभव नहीं है। किसानों को 86 खरीदी केन्द्र के माध्यम से फोन कर जानकारी भी दी गई थी। खरीदी के लिए तीन दिन का समय था। बुधवार से शुरू धान खरीदी शुक्रवार को खत्म हो गई है। फाइनल आंकड़े शनिवार को जारी किए जाएंगे। 
खरीदी में लेट, इस कारण मंडी में बेचना पड़ा
फिर से धान खरीदी किए जाने को लेकर जिले के किसान लगातार कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर मांग किए थे। इसके साथ ही पांडातराई, बाेड़ला क्षेत्र के किसान तो हाईकोर्ट पहुंच गए थे। तब तक खरीदी को लेकर संशय था। ऐसे में करीब दो माह बाद फिर से खरीदी किए जाने आदेश जारी किया गया। लेकिन तीसरी बार कम खरीदी हुई। किसानों की मानें तो खरीदी में संशय होने के चलते कम दाम में मंडी में धान को बेचना पड़ा। ग्राम सारंगपुर के किसान ललित साहू ने बताया कि बीते दो माह से खरीदी के संबंध में कोई भी आदेश नहीं आया था। ऐसे में वे अपना धान ग्राम जोराताल स्थित कृषि मंडी में कम दाम में बेचना पड़ा। यहां धान की किस्म के अनुसार करीब 1400 से 1700 रुपए प्रति क्विंटल में धान बेचना पड़ा। वहीं धान खरीदी केन्द्र में 2500 रुपए प्रति क्विंटल में धान खरीदी हुई थी। इस तरह धान में नुकसान का सामना करना पड़ा है।
खरीदी केन्द्र में श्रमिक की मौत, प्रशासन अंजान
धान खरीदी केन्द्र में गुरुवार दोपहर करीब 12 से 1 बजे के बीच में एक श्रमिक की मौत हो गई। जानकारी अनुसार सहसपुर लोहारा तहसील क्षेत्र अंतर्गत ग्राम रणवीरपुर खरीदी केन्द्र में भुनेश्वर साहू पिता रामकुमार साहू (32) निवासी ग्राम कोसमंदा अन्य किसान के साथ हमाल के रूप में आया था। अचानक धान उपार्जन केंद्र में उसे उल्टी होने पर रणवीरपुर उपस्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। इस दौरान रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। लेकिन धान खरीदी केन्द्र में श्रमिक की मौत होने के मामले में प्रशासन देर रात तक अंजान रही। रात 8 बजे सहसपुर लोहारा तहसीलदार व प्रशिक्षु डिप्टी कलेक्टर रेखा चन्द्रा से जानकारी ली गई तो मामले की जानकारी नहीं होने की बात कही।
धान खरीदी संबंधित फैक्ट-फाइल 
धान खरीदी - 20 मई की स्थिति में 

  • 76056.62 क्विंटल धान मोटा 
  • 206273.13 क्विंटल धान पतला 
  • 38649.04 क्विंटल धान सरना 
  • 320978.79 क्विंटल कुल धान 

धान खरीदी - 22 मई की स्थिति में

  • 78685.92 क्विंटल धान मोटा 
  • 213229.73 क्विंटल धान पतला
  • 40595.42 क्विंटल धान सरना 
  • 332511.07 क्विंटल कुल धान 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना