एफआईआर की मांग:एंट्री प्वाइंट पर पुलिस ने रोका, तो एनएच पर बैठे, आईजी के खिलाफ की शिकायत

कवर्धा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा विधायक चंद्राकर व शिवरतन भी पहुंचे कवर्धा

शहर में कर्फ्यू के हालात के बीच गुरुवार के भाजपा के वरिष्ठ विधायक अजय चंद्राकर व शिवरतन शर्मा भी कवर्धा पहुंचे। लेकिन वे शहर में दाखिल हो पाते, उससे पहले ही उन्हें शहर के एंट्री प्वाइंट पर रोक दिया गया। रायपुर रोड में बायपास तिराहे के पहले ही पुलिस ने उनका मार्ग रोक लिया। इससे नाराज दोनों ही वरिष्ठ विधायक एनएच पर ही बीच सड़क पर बैठ गए। वे आईजी के खिलाफ एफआईआर करने की मांग करते रहे।

पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने बताया कि वे मामले के प्रभावितों से मिलने, गिरफ्तार किए गए कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने व लोहारा नाका चौक का मुआयना करने पहुंचे थे, लेकिन प्रशासन ने उन्हें रोक दिया। सड़क पर बैठकर ही वे सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। उन्होंने पहले कलेक्टर कबीरधाम रमेश कुमार शर्मा से फोन पर इसे लेकर आपत्ति दर्ज की। इसके बाद डीजी पुलिस डीएम अवस्थी से भी फोन पर बातचीत की। दोनों ही नेताओं ने कहा कि दुर्ग रेंज के आई का बर्ताव पूरी तरह कांग्रेस कार्यकर्ता की तरह है। वे भाजपा के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं। ऐसे में सबसे पहले दुर्ग रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा के खिलाफ एफआईआर कराना चाहते हैं, इसलिए उन्हें कवर्धा थाने तक जाने दिया जाए। लेकिन प्रशासन ने उन्हें कवर्धा शहर में किसी भी स्थिति में प्रवेश देने से इनकार कर दिया। बाद में उनकी लिखित शिकायत दशरंगपुर चौकी में ली गई।

यह लिखा पत्र में- राजनैतिक बयान दे रहे आईजी: शिवरतन शर्मा व अजय चंद्राकर ने जो शिकायत डीजीपी के नाम से पुलिस को सौंपी। उसमें उन्होंने लिखा कि दुर्ग रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाते हुए घटना के संबंध में राजनैतिक बयान दे रहे हैं कि भाजपा के लोग बाहर से आकर तनाव फैला रहे हैं। यह एक लोक सेवक के कर्तव्य व निष्पक्षता के खिलाफ है। इन्हें तत्काल कवर्धा की घटना के संबंध में किसी भी दायित्व से मुक्त किया जाए। कवर्धा की घटना व भाजपा के कार्यकर्ताओं के एकपक्षीय प्रताड़ना के खिलाफ यही अधिकारी जिम्मेदार हैं। इस अधिकारी के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किया जाए।

लगता है आईजी ने कांग्रेस का नमक खाया है: अजय
इस दौरान अजय चंद्राकर ने कहा कि इस रेंज के आईजी कांग्रेस के नेता जैसे लगते हैं। वे राजनैतिक बयान दे रहे हैं। शायद उन्होंने कांग्रेस का एकाध-दो क्विंटल नमक खाया है। उनके रहते हुए कवर्धा में एकपक्षीय कार्रवाई ही होगी। इसलिए हम विवेकानंद सिन्हा के खिलाफ एफआईआर कराएंगे। वहीं शिवरतन शर्मा ने कहा कि कानून व्यवस्था के लिए सबसे बड़ा खतरा आईजी विवेकानंद सिन्हा व कांग्रेस के लोग हैं। सत्ता के दबाव में कार्रवाई हो रही है। एनएच पर दोनों नेताओं के साथ विजय शर्मा, मोतीराम चंद्रवंशी, कैलाश चंद्रवंशी, सीताराम साहू भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...