पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Kawardha
  • Residents Of Vananchal Village Dhudasi Should Make Shramdaan And Save Water By Making A Circle Of Stones In The River Dhamna, So That There Is No Problem Of Sluggishness In Summer.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पानी का मोल समझा:वनांचल गांव धुड़सी के रहवासी श्रमदान कर धमना नदी में पत्थरों का घेरा बनाकर पानी को सहेज रहे, ताकि गर्मी में निस्तारी की समस्या न हो

कवर्धा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दूरस्थ वनांचल ग्राम पंचायत कांदावानी का आश्रित गांव धुड़सी। यहां के ग्रामीण गर्मी में हर साल सूखे की समस्या से जूझते हैं। प्रशासन ध्यान नहीं देती, इसलिए ग्रामीणों ने खुद ही इसका हल निकाला है। गांव से होकर गुजरने वाली धमना नदी में अभी पानी भरा है। इससे पहले कि गर्मी आने पर यह सूख जाए, ग्रामीण श्रमदान से नदी में पत्थरों का घेरा बनाकर पानी को सहेजने की जुगत में लगे हैं। ताकि गर्मी में निस्तारी के लिए पानी को तरसना न पड़े। ग्राम धुड़सी के धमना नदी में 3 जगहों पर पत्थरों का घेरा बनाकर पानी सहेजा जा रहा है। इस काम में गांव के हर घर से 2-2 सदस्य श्रमदान करने में जुटे हुए हैं। दो स्थानों पर पत्थरों का घेरा कर पानी को सहेजा जा चुका है। तीसरे स्थान पर काम अभी जारी है। करीब 150 की आबादी वाले इस गांव में निस्तारी का एकमात्र जरिया यही नदी है। श्रमदान कर रहे ग्रामीण अमर सिंह बैगा, रामसिंह बैगा, चंद्रकुमार यादव बताते हैं कि गर्मी में नदी का पानी सूख जाता है, जिससे निस्तारी की समस्या होती है। मवेशियों को भी पीने के लिए पानी नहीं मिलता, इसलिए श्रमदान करते हुए नदी के पानी को सहेज रहे हैं।

महिलाएं और बच्चे भी कर रहे इस काम में सहयोग
नदी के पानी को सहेजने में करीब 40 ग्रामीण श्रमदान कर रहे हैं। इस काम में महिलाएं और बच्चे भी सहयोग कर रहे हैं। ग्रामीण कटोरी बाई, राजकुमारी यादव, तिहारो बाई, दशरथ यादव बताते हैं कि गर्मी में निस्तारी तो दूर पीने के लिए पानी भी बड़ी मुश्किल से जुटा पाते हैं।

आमानाला में गांव बचाओ समिति दे रही है प्रेरणा
इधर, ग्राम कुकदूर के आमानाला में भी पत्थरों को घेरकर पानी को सहेजने कोशिश की जा रही है। इस काम में महिलाएं श्रमदान कर रही है। आमानाला में 50 मीटर के अंतराल पर दो स्थानों पर पत्थरों का चौकोर घेरा बनाए हैं। इसी में पानी को सहेजा जा रहा है। इस पानी का इस्तेमाल गर्मी के दिनों में करेंगे। गांव बचाओ समिति की प्रेरणा से यह काम कराया जा रहा है। समिति के सदस्य कृष्णा परस्ते बताते हैं कि हर साल गर्मियों में पानी की समस्या रहती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें