पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दुर्ग यूनिवर्सिटी:कुकदुर कॉलेज में 165 सीट खाली प्रवेश के लिए रुचि नहीं ले रहे छात्र

कुकदुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ऑनलाइन आवेदन करने के बाद एडमिशन लेने नहीं पहुंच रहे छात्र

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के अधीन आने वाले सभी कॉलेज में दाखिले की प्रक्रिया चल रही है। इस बार दाखिले को लेकर कवर्धा समेत वनांचल क्षेत्र के कॉलेज में स्थिति ठीक नहीं है। क्योंकि इन कॉलेज में अभी तक सीट नहीं भर सकी है, जबकि दाखिले के लिए ऑनलाइन आवेदन बीते 15 दिन से अधिक समय से लिया जा रहा है। वर्तमान में दाखिले के लिए 30 सितंबर तक आवेदन किया जा सकता है। कुई-कुकदुर के शासकीय नवीन महाविद्यालय में भी दाखिले को लेकर क्षेत्र के युवाओं में रुचि नहीं है। कोरोना के कारण स्टूडेंट्स भीड़-भाड़ वाले जगह में जाने से बच रहे हैं। वनांचल के इस कॉलेज में कुल 270 सीटें हैं, जिसमें से अब तक 165 सीट रिक्त है। कॉलेज के प्राचार्य अखिलेश चन्द्र वर्मा ने बताया कि पिछले वर्ष तीनों पाठ्यक्रम मिलाकर 100 विद्यार्थी ने ही प्रवेश लिया था। इस वर्ष अभी तक प्रथम वर्ष में नवीन प्रवेश के लिए कुल 105 आवेदन आए हैं, आने वाले समय में यह संख्या और भी बढ़ सकती है। वर्तमान में जितनी सीट हैं, उससे ज्यादा ऑनलाइन फॉर्म भरा गया है। लेकिन प्रवेश लेने स्टूडेंट्स नहीं पहुंच रहे है।

समस्या: पढ़ाई कॉलेज में लेकिन परीक्षा पंडरिया में
नए कॉलेज होने के कारण फिलहाल यहां संसाधन की कमी है। इसके साथ ही परीक्षा केन्द्र की भी व्यवस्था नहीं है। ऐसे में इस कॉलेज के स्टूडेंट्स को पंडरिया कॉलेज में परीक्षा दिलाना पड़ता है। कुई-कुकदुर से पंडरिया की दूरी 25 किलोमीटर है। इस लिहाज से यहां के स्टूडेंट्स को परीक्षा दिलाने सफर करना पड़ता है। वहीं सबसे बड़ी परेशानी यहां वाहन की है, वनांचल क्षेत्र होने के चलते यात्री बस कम ही चलती है। इसी प्रकार बोड़ला ब्लाॅक के ग्राम झलमला स्थित नए कॉलेज के विद्यार्थियों को परीक्षा केन्द्र बोड़ला दिया जाता है। इन दोनों कॉलेज के स्टूडेंट्स को परीक्षा के लिए दूसरे कॉलेज के उपर निर्भर रहना पड़ता है। वहीं प्राइवेट के माध्यम से परीक्षा दिलाने वाले विद्यार्थियों के लिए इन दोनों कॉलेज में कोई सुविधा नहीं है।

क्षेत्र में 403 विद्यार्थी कक्षा 12वीं उत्तीर्ण किए
कुकदुर क्षेत्र के बच्चों को उच्च शिक्षा से जोड़ने के लिए राज्य सरकार ने कॉलेज की घोषणा की थी। बीते दो वर्ष से कॉलेज में एडमिशन को लेकर विद्यार्थी रूचि ले रहें थे। लेकिन इस वर्ष दाखिले को लेकर स्थिति खराब है। जबकि इस सत्र के कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा में क्षेत्र के करीब 403 बच्चे उत्तीर्ण हुए है। इसके बाद भी कॉलेज के 270 सीट नहीं भर पा रहें है।

प्रोफेशनल कोर्स के लिए कवर्धा शहर जाते हैं
प्रोफेशनल कोर्स के लिए कवर्धा व दूसरे शहर के उपर निर्भर है। बच्चे डीएलएड, पॉलीटेक्निक, नर्सिंग, फिशरीज व एग्रीकल्चर कोर्स के लिए कवर्धा की ओर रूख करते है। एलएलबी, बीएड, बीई, फार्मेसी, मेडिकल की पढ़ाई के लिए रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव जाते है। हाल में हुए मेडिकल कॉलेज में दाखिला के लिए नीट परीक्षा में क्षेत्र के 5 से अधिक बच्चे शामिल हुए है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें