40800 मानक बोरा तेंदूपत्ता खरीदी का लक्ष्य:मई के पहले हफ्ते से शुरू होगी तेंदूपत्ता तोड़ाई

कवर्धा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 34 हजार संग्राहक परिवारों को मिलेगा सीधे लाभ

कबीरधाम जिले में मई के पहले सप्ताह में हरा सोना कहे जाने वाले तेंदूपत्ता की तोड़ाई शुरू होगी। इस साल 40 हजार 800 मानक बोरा तेंदूपत्ता खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। जिले के 251 फड़ों के जरिए इसकी खरीदी होगी। इससे 34 हजार संग्राहक परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा।

तेंदूपत्ता खरीदी के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा व डीएफओ दिलराज प्रभाकर ने जिले के सभी फड़ों में फड़ मुंशी और फड़ अभिरक्षकों की ड्यूटी लगाई है। तेंदूपत्ता संग्रहण के इस कार्य को कराने के लिए उप वन मंडल अधिकारी जोनल अधिकारी, परिक्षेत्र अधिकारी बतौर नोडल अधिकारी और इन 19 प्राथमिक लघु वनोपज समितियों के लिए 19 पोषक अधिकारी और 19 प्रबंधकों की ड्यूटी लगाई गई है। कबीरधाम जिले के जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा में तेंदूपत्ता संग्रहण वर्ष 2021 में संग्रहण लक्ष्य 40800 मानक बोरा, 16.32 करोड़ रुपए और संग्राहक परिवार संख्या लगभग 34000 निर्धारित किया गया है। अब तेंदूपत्ता तोड़ाई की तैयारी शुरू कर दी गई है।

बीते साल खरीदे गए थे 8.12 करोड़ रुपए का तेंदूपत्ता

बीएफओ दिलराज प्रभाकर ने बताया कि कबीरधाम जिले में वर्ष 2020 में 20304 मानक बोरा तेंदूपत्ता खरीदी हुई थी। इसका 29310 संग्राहक परिवारों को 8.12 लाख रुपए भुगतान किया गया था। इसी तरह वर्ष 2018 में 42242 मानक बोरा (10.56 करोड़ रुपए) और वर्ष 2019 में 35411 मानक बोरा (14.16 करोड़ रुपए) का तेंदूपत्ता खरीदे थे।

संग्रहण दर 4 हजार रुपए प्रति मानक बोरा तय

छग तेंदूपत्ता संग्रहण दर 4 हजार रुपए प्रति मानक बोरा तय की गई है। राज्य में तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य से लगभग 13 लाख आदिवासी- वनवासी संग्राहक परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा और इसके संग्रहणकाल मई व जून में दो माह के भीतर संग्राहकों को 668 करोड़ रुपए की भुगतान किया जाएगा। तेदूंपत्ता संग्राहक परिवारों को 1.51 लाख मास्क उपलब्ध कराए जाएंगे।

सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य

तेंदूपत्ता तोड़ाई के दौरान कोरोना से बचाव के लिए जरूरी सावधानी बरती जा रही है। सभी फड़ों पर सैनिटाइजर, बाल्टी, मग पानी, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...