पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आदिवासी लड़की से दुष्कर्म का मामला:पुलिस का यू-टर्न: पहले ब्वॉयफ्रेंड को बताया दोषी 13 दिन बाद कहा- सामूहिक दुष्कर्म, 4 गिरफ्तार

कवर्धा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बार-बार अपना बयान बदलकर पुलिस को लगातार गुमराह करती रही पीड़िता

कवर्धा शहर में 23 नवंबर की रात हुई आदिवासी लड़की से दुष्कर्म के मामले में नया मोड़ आ गया है। अब पुलिस यह दावा कर रही है कि आदिवासी लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म ही हुआ था। मामले में 4 आरोपी पकड़े गए हैं, इनमें से 3 नाबालिग हैं। घटना के बाद पीड़ित लड़की काफी डरी हुई थी। घबराहट में दिए उसके गलत बयान के कारण पुलिस जांच में गुमराह होती रही। एसपी शलभ कुमार सिन्हा की मानें, तो वारदात के बाद से पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही थी। तभी पीड़ित लड़की ने अचानक सामने आकर यह कहने पर कि वह आरोपियों को पहचानती है। इसके बाद पुलिस हरकत में आई। मुखबिरों को अलर्ट किया गया। घटनास्थल और आरोपियों के भागने वाले संभावित रास्तों की सीसी कैमरा फुटेज दोबारा जांच की। एक जगह पर सीसी कैमरे में भागते हुए 3 लोगों की परछाई का फुटेज भी मिला है। मामले की गंभीरता से जांच की गई।

वारदात के बाद एक साथ दुर्ग भागे थे चारों आरोपी
मुखबिरों काे अलर्ट कर मोहल्ले की रेकी कराई गई। पता चला कि मोहल्ले के 4 लड़के वारदात वाली रात से गायब हैं। जांच में पता चला कि चारों एक साथ दुर्ग भाग गए हैं। दुष्कर्म मामले में ब्वॉयफ्रेंड की गिरफ्तारी के बाद चारों आरोपी निश्चिंत हो गए थे कि वे बच गए। लेकिन जैसे ही चारों अपने घर पहुंचे, पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। फिर पूछताछ में आरोपी रिजवान पिता मकसूद खान समेत 3 अन्य अपराची बालकों ने अपराध करना कबूल किया है। एसपी बताते हैं कि आरोपी व अपचारी बालक नशे के आदी हैं। मामले में आगे की जांच की जा रही है। इसके पश्चात कुछ और नई जानकारी मिल सकती है।

ऐसी पुलिसिंग : बिना सबूत जुटाए पहले सामूहिक दुष्कर्म और उसके बाद दुष्कर्म की कहानी गढ़ दी
घटना की जांच को लेकर पुलिस की किरकिरी हो रही है। कोतवाली पुलिस के अलावा, बोड़ला, सहसपुर लोहारा, पंडरिया के निरीक्षक जांच में जुटे थे। बिना सबूत जुटाए ही पुलिस ने पहले सामूहिक दुष्कर्म और फिर ब्वॉयफ्रेंड द्वारा दुष्कर्म की कहानी गढ़ दी। अब फिर सामूहिक दुष्कर्म होना बताया जा रहा है। लेकिन अब भी पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ कोई ठोस साक्ष्य पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं। सिर्फ पीड़ित लड़की का बयान है।

आरोपी मेरे ही मोहल्ले के हैं, पुलिस उन्हें पकड़ नहीं पाई ताे मैं घबरा गई थी, इसलिए गलत बोल दिया था
मामले में सामूहिक दुष्कर्म वाले एंगल की जांच उस वक्त शुरू हुई, जब पुलिस को एक लेटर मिला। वह लेटर खुद पीड़ित लड़की अपने परिजन के साथ वारदात के 10 दिन बाद यानी 3 दिसंबर को थाने पहुंचकर दी थी। लिखा था कि आरोपी मेरे ही मोहल्ले के हैं। पुलिस उन्हें पकड़ नहीं पा रही थी तो मैं डर गई थी कि कहीं वे हमें नुकसान न पहुंचा दें। घबराहट में मैं गलत बता दी थी कि मेरे दोस्त (ब्वॉयफ्रेंड) ने ही गलत काम किया था। फिर पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म के एंगल पर दोबारा जांच शुरू की। कोतवाली में धारा 341, 342, 323, 376 डी, पाॅक्सो एक्ट 4, 5 में जुर्म दर्ज किया गया।

पांच साल में बाल अपराध के 92 केस सामने आए
कवर्धा शहर में नाबालिग बच्चे गलत संगत, नशा और बुरी आदतों के चलते अपराधी बन रहे हैं। भास्कर ने पड़ताल की, तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। महिला बाल विकास विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक कबीरधाम जिले में बीते 5 साल में बाल अपराध के 92 मामले सामने आए हैं। ज्यादातर मामलों में अपचारी बालकों को सुधार गृह दुर्ग भेजा गया है।

वारदात होने के बाद से पुलिस ने बढ़ाई गश्त पाइंट
वारदात के बाद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कोतवाली पुलिस की खूब किरकिरी हुई है। इसलिए पुलिस ने शहर में रात्रि गश्त के प्वाइंट्स बढ़ा दी है। शहर में 9 स्थानों पर फिक्स प्वाइंट लगाकर 2- 2 जवानों की ड्यूटी लगाई जा रही है। वहीं 3 पेट्रोलिंग टीम और जोनल गश्त लगाई जा रही है । साथ ही शहर में 8 ऐसे स्थान चिह्नांकित किए गए हैं, जो आउटर व सुनसान हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें