पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जैन संस्कृति के महापर्व:उपासना एवं आराधना हर्षोल्लास के साथ संपन्न, शिल्पा ने 11 तो 14 वर्षीय मौली ने 9 दिन का किया उपवास

केशकाल13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिल्पा और मौली। - Dainik Bhaskar
शिल्पा और मौली।

जैन संस्कृति के महापर्व परवा धीराज पर्यूषण पर्व के उपलक्ष में केशकाल जैन श्वेतांबर संघ में उपासना एवं आराधना हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। पर्यूषण पर्व के अंतर्गत जैन धर्म और बौद्ध धर्मावलंबियों ने अनेक तपस्या की जिसमें से केशकाल जैन समाज के वरिष्ठ व पूर्व जिला अध्यक्ष भाजपा कानमल जैन की पोती 14 वर्षीय मौली तातेड़ ने 9 एवं 24 वर्षीय भतीजी शिल्पा तारेड़ ने 11 दिनों की तपस्या पूरी की।

यह तपस्या बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें निराहार रहकर के तप करना पड़ता है और धर्म आराधना करना पड़ता है। तपस्या के अंतिम दिवस पर दोनों ही युवतियों के सम्मान में प्रभात फेरी निकाली गई। इस दौरान उनका अभिनंदन किया गया साथ ही बहुत ही भक्तिमय वातावरण में कार्यक्रम संपन्न हुई धर्मा जैन धर्मावलंबियों ने इनका इस अवसर पर अभिनंदन किया और परिवारजनों ने भी इसमें बहुत ही हर्षोल्लास पूर्वक इसे उत्सव के रूप में मनाया। इसके साथ ही केशकाल के जैन श्वेतांबर आदिनाथ मंदिर में अक्षय निधि समवशरण मुक्तक एवं कल्प सूत्र का वाचन हुआ जिसमें बड़ी संख्या में भक्तगण सम्मिलित होते रहे। जैन जगत के दादा गुरुदेव की भक्ति में इकतीसा का जाप भी 11 दिन से जाप बड़े ही हर्षोल्लास पूर्वक भक्तिमय वातावरण में संपन्न हुआ।

खबरें और भी हैं...