पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नपं सभागृह में रूपरेखा बनाने हुई बैठक:चखना सेंटरों, गुमटियों, ठेलों पर कार्रवाई की तैयारी

खरोराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर के चौक चौराहों पर लगे अव्यवस्थित फल ठेलों, गुमटियों, होर्डिंग से लोगो को कई परेशानी हो रही है। इससे कई दुर्घटनाएं भी घट चुकी हैं। समय समय पर नगर पंचायत व्दारा मुहिम चलाकर इन्हें समझाइश दी जाती है किंतु किसी ठोस कार्रवाई के अभाव में कुछ दिनों में ये लोग फिर काबिज हो जाते हैं। बार-बार शिकायतों के बाद अब इन पर कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। टीआई नीतेश ठाकुर एवं नपं सीएमओ सतीश यादव ने कहा है कि शनिवार से कार्रवाई शुरू हो जाएगी।

छड़िया पचरी मार्ग के रहवासी रोड किनारे स्थित अंग्रेजी व देशी शराब दुकान से परेशान हैं क्योंकि पास ही दर्जनभर से भी अधिक चखना सेंटर खोले गए हैं। इन सेंटरों में बैठकर लोग खुलेआम शराब पीते हैं। क्षेत्र का करीब एक किमी का एरिया पानी पाऊच, डिस्पोजेबल एवं शराब की ख़ाली शीशियों से पट चुका है। इन संकरे रास्तों पर लडख़ड़ाते शराबियों के बीच से गुज़रने के लिए बड़ी हिम्मत की जरूरत होती है, खासकर महिलाएं रोज छींटाकशी व छेड़खानी का शिकार होती हैं।

एक दिन पहले कोरोना का वास्ता देकर बैठक निरस्त की गई, फिर दूसरे ही दिन बैठक रख भी ली

कार्रवाई की रूपरेखा को लेकर शुक्रवार को नगर पंचायत सभागृह में टीआई नीतेश ठाकुर एवं नपं सीएमओ सतीश यादव की उपस्थिति में आयोजित बैठक में नपं अध्यक्ष, उपाध्यक्ष पार्षद सहित पत्रकारों को भी बुलाया गया जिसमें नपं अध्यक्ष अनिल सोनी, उपाध्यक्ष पन्ना देवांगन, प्रदेश सचिव जुबैर अली, एल्डरमैन नीलेश चंद्रवंशी, पार्षद भरत कुम्भकार, राहुल मरकाम, सुरेंद्र गिलहरे, संत नवरंगे, तोरण ठाकुर, पुरनेन्द्र पाध्याय, पंचराम यादव, भूपेंद्र सेन, आयुष वर्मा आदि मौजूद थे। इस बैठक को लेकर भी नगर में खासी चर्चा है क्योंकि इसके ठीक एक दिन पहले नपं परिषद की समान्य सभा की बैठक कोरोना का हवाला देकर उच्च अधिकारी ने निरस्त करवा दी थी, जबकि बैठक निरस्त करने अध्यक्ष का अनुमोदन भी नहीं लिया गया था। नपं सीएमओ सतीश यादव इस संबंध में कोई सफाई पेश न कर सके। इससे नाराज नपं अध्यक्ष अनिल सोनी एवं पार्षदों ने कलेक्टर से इसकी शिकायत की है।

खबरें और भी हैं...