आयोजन:ब्राह्मण समाज के महिला प्रकोष्ठ ने कराया उपनयन संस्कार, बटुकों की निकली बारात

खरोरा18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हिंदुओं के सार्वभौम शासन तंत्र और व्यासपीठ के शोधकर्ता आद्य शंकराचार्य भगवान की जयंती ब्राह्मण समाज ने हर्षोल्लास से मनाई। इस अवसर पर अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद महिला प्रकोष्ठ जिला रायपुर के तत्वावधान में उपनयन संस्कार का आयोजन हुआ जिसमें खरोरा के ब्राह्मण परिवारों के लोग भी बड़ी संख्या में शामिल हुए।

आचार्य डॉक्टर इंदु भावानंद महाराज ने कान फूंककर बटुकों को गुरु मंत्र दिया। इसके बाद शाम को सभी 14 बटुकों की एक साथ बारात निकाली गई । दूल्हे के वेश में सजे बटुकों ने लोगों का मन मोह लिया। बटुकों का उपनयन संस्कार त्रिपुर सुंदरी मंदिर शंकराचार्य आश्रम में हुआ जिसमें रायपुर, दुर्ग, धमतरी सहित आसपास के कई जिलों के बटुक एवं परिवारजन पहुंचे थे।

उल्लेखनीय है कि संस्कारवान बनाने के लिए ब्राह्मण समाज में मुंडन संस्कार में युवा कठोर नियमों का पालन करते हैं। इस कार्यक्रम में गौरी गणेश, षोडस मातृका, नवग्रह, मंडप सहित अन्य देवताओं की पूजा के बाद बटुकों को हल्दी लगाई गई तथा चिकट का कार्यक्रम भी हुआ। इसके बाद मुंडन संस्कार हुआ। वेद मंत्रों के साथ यज्ञ हवन किया गया और बटुकों को जनेऊ धारण करवाया गया।

आचार्य ने उपनयन संस्कार महत्त्व और जनेऊ धारण करने के नियम के विषय में बताया । उन्होंने कहा कि हर बटुक को ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करना चाहिए, जनेऊ धारण करने से एकाग्रता बढ़ती है और बुद्धि कुशाग्र होती है। इस अवसर पर रायपुर महिला प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष पं यामिनी शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष पं. अंजू पाण्डेय, मीडिया प्रभारी पं. ज्योति , ब्लाक अध्यक्ष शैलजा तिवारी, पं. दामिनी दीवान, पं. मंजू तिवारी, अधिवक्ता पं. नंदनी शर्मा संचालिका अखिल भारतीय ब्राम्हण परिषद महिला प्रकोष्ठ भी मौजूद थीं। पूरा कार्यक्रम डॉ. इंदु भावानंद के सान्निध्य में हुआ।

इस अवसर पर जजमानों व आगंतुकों सभी के लिए व्यवस्थापन व्यवस्था ‌व जलपान भोजन प्रबंधन की पूर्ण व्यवस्था की गई थी। पं. सावित्री मिश्रा, पं. सोनाली मिश्रा, पं. हर्षिका चतुर्वेदी, पं. सरिता शर्मा, पं. लक्ष्मी शर्मा, पं. किरण शर्मा, सरोज पाण्डेय व पं अर्चना तिवारी ने सभी का आभार प्रकट किया।

खबरें और भी हैं...