फरियाद:शिक्षकों को फ्रंटलाइन के कोरोना वॉरियर्स का दर्जा दें व बीमा कराएं

कोंडागांव6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने पहुंचे टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने पहुंचे टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी।
  • मुख्यमंत्री, मंत्री, उच्च अधिकारियों सहित कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

वैश्विक महामारी कोविड-19 इन दिनों हमारे देश एवं प्रदेश में विकराल रूप धारण कर चुका है। कोरोना संकट के दौरान शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जा रही है । शिक्षक पूरे ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रहा है। जिसके चलते उसे भी कोरोना वारियर्स का दर्जा दिया जाए।

गुरुवार को टीचर्स एसोसिएशन जिला कोंडागांव के जिलाध्यक्ष ऋषिदेव सिंह ने मुख्यमंत्री सहित विभागीय मंत्री, विभागीय उच्च अधिकारियों एवं जिला कलेक्टर से जिले के कोविड-19 ड्यूटी में लगे विभाग के कर्मचारियों व शिक्षकों को स्वास्थ्य विभाग की तरह प्रथम पंक्ति के कोरोना वारियर्स मानते हुए सभी का टीकाकरण एवं 50 लाख का बीमा सहित कोविड-19 कार्यस्थल पर न्यूनतम जोखिम के लिए सुरक्षात्मक आवश्यक संसाधनों उपलब्ध कराने की मांग संबंधित ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन सौंपते समय जिलाध्यक्ष ऋषिदेव सिंह, प्रदेश संगठन मंत्री चन्द्रकान्त ठाकुर, संयोजक यादवेंद्र सिंह यादव, जिला सचिव संजय कुमार राठौर, जिला महामंत्री फूलधर देवांगन उपस्थित रहे । सिंह ने कहा कि कुछ माह पहले सचिव स्कूल शिक्षा विभाग आलोक शुक्ला का एक दैनिक समाचार पत्र में यह स्टेटमेंट छपा था कि हमने शैक्षिक कार्य में लगे शिक्षकों को ड्यूटी से अलग रखने के निर्देश दिए थे । जिसने ड्यूटी लगाई है वही बीमा सहित अन्य सवालों का जवाब देंगे । ऐसी परिस्थिति में अत्यंत भयावह स्थिति शिक्षकों के अंदर निर्मित हुई है।

स्कूल बंद पर शिक्षक काम कर रहे

प्रदेश के बच्चों के लिए विद्यालय बंद कर दिया गया है, परंतु शिक्षकों के लिए स्कूल बंद नहीं है । शिक्षक प्रतिदिन सुखा मध्यान्ह भोजन वितरण, जाति प्रमाण पत्र, 10वीं 12वीं परीक्षा की तैयारी, स्वैच्छिक मोहल्ला क्लास आदि कार्य करते हुए सैकड़ों पालको एवं छात्रों से नियमित संपर्क में है, जिससे अब शिक्षक, पालक व बच्चों में संक्रमण तेजी से फैलने की आशंका है जो जानलेवा साबित हो सकता है।जिले के सभी विकासखंडों में शिक्षा विभाग से अधिकांश शिक्षकों एवं कर्मचारियों का कोविड-19 के टीकाकरण, बस स्टैण्ड, हाट बाजारों में जांच, स्कैनिंग सेंटर एवं होम आइसोलेशन के मरीजों का स्वास्थ्य निगरानी तथा उनके घर के सदस्यों का कोविड-19 टेस्ट कराने में ड्यूटी लगाई गई है।

खबरें और भी हैं...