कार्यों की समीक्षा:जल जीवन मिशन का सर्वे धीमा, बैठक में कलेक्टर ने दो फर्मों को दिया नोटिस

कोंडागांव8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जल जीवन मिशन अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा के लिए गुरुवार को कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा द्वारा बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों सहित कार्य कर रही एजेंसियों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए।

इस दौरान कलेक्टर ने जल जीवन मिशन के सर्वे कर डीपीआर निर्माण कार्य में हो रही देरी पर नाराजगी जाहिर करते हुए धीमी गति से हो रहे कार्यों के संबंध में फर्मों से जानकारी मांगी गई। जिस पर फर्मों के प्रतिनिधियों द्वारा सर्वे कार्य में देरी के लिये सर्वे दलों की संख्या के कम होने की जानकारी दी। जिस पर कलेक्टर ने दलों की संख्या बढ़ाकर जल्द कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये।

ज्ञात हो कि जिले में तीन फर्मों रूद्राभिषेक इंटरप्राइजेस नोएडा, संजय अग्रवाल रायपुर, आरव कंसल्टेंसी रायपुर द्वारा कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर ने रूद्राभिषेक इंटरप्राइजेस एवं संजय अग्रवाल फर्मों के कार्यों को संतोषप्रद न पाते हुए कार्य में देरी करने एवं समय सीमा में कार्य पूर्ण न करने के लिए नोटिस जारी किया। इन दोनों फर्मों को समय सीमा में कार्यों को खत्म कर डीपीआर बनाने ेेेके लिए निर्देशित किया साथ ही विभाग को निर्देश दिये कि यदि फर्म द्वारा समय सीमा पर कार्य सम्पन्न नहीं कराया जाता है तो उनका कांट्रेक्ट समाप्त कर अन्य फर्मों को कार्य दिया जाये।

15 दिन में पूरा करें सर्वे का कार्य: कलेक्टर
कलेक्टर ने 15 दिनों के भीतर सभी फर्मों को अपना सर्वे कार्य पूर्ण कर डीपीआर बनाने के लिए निर्देशित किया है। उल्लेखनीय है कि जिले में 83 ग्रामों में रेट्रो फिटिंग के कार्य किये जाने हंै जबकि एकल ग्राम योजना अंतर्गत 226 योजनाओं पर कार्य किया जाना है। जिसके लिए वर्तमान में रेट्रो फिटिंग के 63 कार्य, एकल ग्राम योजना में 58 तथा बहुग्राम योजना अंतर्गत 1 कार्य स्वीकृत हुए थे। जिनके सर्वे के लिए तीन फर्मों को निविदा के माध्यम से योजना के लिए कार्य दिया गया था।

खबरें और भी हैं...