कोंडागांव में कांग्रेसी नेता का बेटा गिरफ्तार:हुड़दंग करने से रोका तो पुलिस से मारपीट, 10 बंदी

कोंडागांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के स्टेडियम ग्राउंड में बुधवार की रात गरबा स्थल पर हुड़दंग कर रहे युवकों को जब पुलिस ने रोका तो उन्होंने विवाद के बाद मारपीट शुरू कर दी। युवकों में प्रदेश कांग्रेस महासचिव मनीष श्रीवास्तव के बेटे सिद्धार्थ समेत 9 अन्य युवक भी शामिल हैं। पुलिस ने इन्हें बलवा, मारपीट, हत्या का प्रयास और एससी-एसटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार कर गुरुवार को न्यायालय में पेश किया। जहां से इन सब को जेल भेज दिया गया है।

कोंडागांव के विकास नगर स्थित स्टेडियम मैदान में रास-गरबा कार्यक्रम किया जा रहा है। बुधवार की देर रात कुछ लोगों द्वारा हुड़दंग किए जाने की शिकायत पुलिस को मिली थी जिसके बाद एसडीओपी नितेश सिंह परिहार दल-बल के साथ वहां पहुंचे और युवकों को समझाइश देने की कोशिश की। लेकिन वे नहीं माने, पहले तो उन्होंने पुलिस से विवाद किया उसके बाद झूमाझटकी और मारपीट तक कर दी। युवकों में सिद्धार्थ श्रीवास्तव, आदित्य माने, गौरव संचेती, अंकित शर्मा, शुभम शाहा, नितिन कटारिया, निखिल चौहान, नितिन घोष, कृष्णा कुमार, गौतम गायकवाड़ शामिल हैं। कुछ को तो पुलिस ने पकड़ लिया लेकिन बाकी भाग गए। देर रात पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया। इन्हें गुरुवार को कोर्ट में पेश किया लेकिन क्षेत्राधिकार के अभाव में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी भूपेश कुमार बसंत ने जेल भेजने का आदेश दिया है।

बलवा, हत्या का प्रयास और एससी-एसटी की धाराएं लगी
एएसपी राहुल देव शर्मा ने बताया कुछ लड़कों द्वारा हुड़दंग की सूचना पर एसडीओपी निमितेश सिंह परिहार राउंड पर निकले हुए थे, पुलिस के द्वारा जब इन लड़कों को समझाइश दी गई तो इन्होंने बदतमीजी की। सभी के खिलाफ भादवि की धारा 147 149, 186, 353, 294, 506, 323, 307 और एससी-एसटी एक्ट की धाराओं के तहत जुर्म दर्ज किया है।

निष्पक्ष जांच करे पुलिस
कांग्रेस महासचिव मनीष श्रीवास्तव ने कहा कि यदि सिद्धार्थ ने कोई गलती की है तो पुलिस निष्पक्ष रूप से उनके बेटे के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने यह भी कहा कि अभी वह बच्चा है ऐसी कार्रवाई ना हो जाए कि जिससे उसे भविष्य में सुधारने का मौका ना मिले।

खबरें और भी हैं...