किसान चिंतित:धान खरीदने 10 दिन बाकी, शेष 44 फीसदी लक्ष्य पूरा करने समितियों के सामने चुनौती

कोपरा नवापारा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बेमौसम बारिश से खरीदी केंद्र का फड़ गीला, धान खरीदी को लेकर अभी संशय - Dainik Bhaskar
बेमौसम बारिश से खरीदी केंद्र का फड़ गीला, धान खरीदी को लेकर अभी संशय
  • बेमौसम बारिश से प्रभावित हुई है धान खरीदी, तारीख नहीं बढ़ाने पर प्रदर्शन की चेतावनी

बेमौसम बारिश के कारण सोसाइटियों में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी इस पूरे सप्ताह बंद रही। ऐसे में मौसम अगर खुल भी जाती है तो खरीदी के लिए बचे मात्र 10 दिन में शेष 44 प्रतिशत की खरीदी करना समितियों के लिए चुनौती है। दूसरी तरफ किसानों को भी अपनी उपज को बेचने की चिंता सता रही है। हालांकि सोसायटी प्रबंधन शेष बचे दिनों में लक्ष्य पूरा कर लेने की बात कर रहे हैं। वही कुछ खरीदी केंद्रों में बारिश का पानी नहीं सूखने के कारण फड़ अभी भी गीला है, जहां अभी 1-2 दिन खरीदी करना संभव नहीं है।

जिला सहकारी बैंक शाखा कोपरा से मिली जानकारी के अनुसार कोपरा, जेंजरा, देवरी, कौंदकेरा, लोहरसी, सहसपुर समिति से धान खरीदी के लिए 7909 किसानों से 319339.20 क्विंटल का लक्ष्य रखा गया है। इसमें से अब तक मात्र 179760.40 क्विंटल की ही खरीदी हाे चुकी है। यानी लक्ष्य से अब तक 56.29 प्रतिशत की खरीदी हुई है। शेष 43.71 प्रतिशत की खरीदी शेष 10 दिनों में किया जाना है, जो सहकारी समितियों के लिए चुनौतीपूर्ण है। वहीं खरीदे गए धान का मिलर्स को 107990 क्विंटल परिवहन किया गया है, जबकि 71761.40 क्विंटल धान अभी भी केंद्रों से परिवहन होना शेष है।
धान खरीदी की तारीख बढ़ाने की मांग:

अगर खरीदी की लक्ष्य को पूरा करने आने वाले 10 दिनों में रोज की खरीदी के कोटे को दोगुनी कर देते हैं तो लक्ष्य पूरा कर सकते हैं लेकिन कोटा दोगुनी होने पर खरीदी केंद्रों में भगदड़ की स्थिति बन सकती है। खरीदी का कोटा बढ़ जाने व परिवहन सुस्त होने के कारण कुछ दिनों में जगह के अभाव में खरीदी बंद करना पड़ सकता है। ऐसे में अगर राज्य सरकार खरीदी की तारीख नहीं बढ़ाते हैं तो लक्ष्य पूरा नहीं हो सकता। इन सभी स्थिति को देखते हुए क्षेत्र के जनप्रतिनिधि शासन से खरीदी की तारीख बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...