शिकायत / नपं ने जनप्रतिनिधि को किराए पर दी दुकान, अन्य हुए नाराज

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

कुरूद. नगर पंचायत कुरूद अब विभिन्न कारणों से चर्चा में बनी हुई है। अभी ताजा मामला  नगर पंचायत द्वारा निर्मित एक दुकान को बिना परिषद के प्रस्ताव पारित किए एक जनप्रतिनिधि के परिवार को किराए पर देने का है। इसे लेकर े जनप्रतिनिधियों में गहरा रोष देखा जा रहा है। पहली परिषद ही इस मुद्दे पर हंगामेदार होने की संभावना है।
नगर पंचायत कुरूद की अब तक परिषद की एक भी बैठक नहीं हुई है और नगर पंचायत में गठित पीआईसी में निर्णय लेकर कार्य किया जा रहा है जिसमें ही बड़े-बड़े निर्णय पारित किए जा रहे हैं ऐसा ही एक निर्णय सामने आया है जिसमें नगर पंचायत की एक दुकान जो विगत कई महीनों से बिना बिके खाली पड़ी थी उसे परिषद में निर्णय लेकर नगर पंचायत में ही एक जनप्रतिनिधि के परिवार को 500 रुपए महीने की दर पर किराए पर दे दिया था। इसे नगर पंचायत के दूसरे जनप्रतिनिधि अनियमितता के रूप में देखते हुए बंदरबांट का आरोप लगा रहे हैं। जानकारी के अनुसार पिछले कार्यकाल में भी यह दुकान बिना बिके खाली पड़ी थी, जिसे नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष रविकांत चंद्राकर तथा पूर्व परिषद ने नीलामी करने का प्रस्ताव पारित किया था। 
ये सत्ता में बैठे लोगों की दादागिरी है 
इस सम्बन्ध में नगर पंचायत कुरूद के वरिष्ठ पार्षद रजत चंद्राकर ने कहा कि यह नगर पंचायत की सत्ता में बैठे जनप्रतिनिधियों की दादागिरी है जो नगर पंचायत की संपत्ति को बिना नियम कानून के किसी को भी दे रहे हैं यह बंदरबांट है इस मामले की जांच होनी चाहिए। तत्काल कार्यवाही भी की जानी चाहिए।
पीआईसी की बैठक में दी गई थी अनुमति
नपं अध्यक्ष तपन चंद्राकर ने कहा  कि यह दुकान 2 साल से खाली पड़ी थी। नीलामी की सूचना में भी  दुकान के संबंध में रुचि नहीं दिखाई। आवेदक ने दुकान को किराए पर मांग की गई तो पीआईसी की बैठक में पूर्व निर्धारित दर पर उक्त आवेदक को दुकान 1 साल के लिए दिया गया था। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना