पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पौधरोपण व खादों की उपलब्धता पर चर्चा:2 साल में नहीं बनी 1.7 किमी सड़क, यहां 2 फीट के कई गड्‌ढे

महासमुंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला पंचायत की सामान्य सभा में उठा अधूरी सड़क का मामला

जिला मुख्यालय से लगे ग्राम मुढ़ेना पहुंच मार्ग की हालत खराब है। बारिश के दिनों में होने वाले जल जमाव के कारण यहां आए दिन हादसे होते हैं। क्योंकि सड़क पर दो-दो फीट के गड्‌ढे बन गए हैं। दो साल पहले इस 1.7 किमी सड़क के लिए 66.54 लाख रुपए की स्वीकृति मिली थी, लेकिन आज तक इसका निर्माण नहीं हो पाया है।

इसके चलते मुढ़ेना के ग्रामीण परेशान हैं। शुक्रवार को जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक में जिला पंचायत सदस्य जागेश्वर जुगनू चंद्राकर ने इस मुद्दे को उठाया। उन्हाेंने जिला पंचायत के लाेक निर्माण विभाग के अधिकारियों सहित जिला पंचायत सीईओ यहां तक कहा कि साहब आप भी आकर देखिए ग्रामीणों को कितनी परेशानी हो रही है। मैं पिछले एक साल से गांव की इस सड़क के निर्माण के लिए चक्कर काट रहा हूं, लेकिन आज तक मुझे निर्माण संबंधी कोई जवाब नहीं मिल पाया।

जागेश्वर चंद्राकर ने बताया कि मुढ़ेना की इस सड़क का निर्माण 15 साल पहले हुआ था, जो दो महीने में ही खराब हो गया। सड़क पर हैवी गाड़ियों दिन-रात चलती है, जिसके चलते सड़क काफी जर्जर हो गई है। गांव के लोग बारिश में कीचड़ से परेशान रहते हैं और सूखे के दिनों में धूल से। इस पर अधिकारियों ने बताया कि दो साल पहले सड़क निर्माण के लिए 6 6.54 लाख रुपए स्वीकृत हुआ था, लेकिन अब इसकी लागत बढ़ गई है।

विकास निधि से बनेगा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल
बैठक में जिला पंचायत विकास निधि पर चर्चा की गई। चर्चा के दौरान अधिकारियों ने बताया कि जिला पंचायत विकास निधि के तहत 1 करोड़ की राशि मिली है। सामान्य सभा में चर्चा के बाद सभी 15 सदस्यों को 5-5 लाख रुपए अपने क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए देने के संबंध में फैसला हुआ। इसके साथ ही शेष 25 लाख रुपए की राशि से जिला पंचायत सभागार के ठीक ऊपर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल के निर्माण की स्वीकृति दी। अधिकारियों ने बताया कि पंचायत विभाग से संबंधित वीडियो कॉन्फेंसिंग के लिए कलेक्टोरेट जाना पड़ता है।

खबरें और भी हैं...