पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का असर:टूटेगी 75 साल की परंपरा, प्रकाश पर्व पर नगर कीर्तन यात्रा नहीं

महासमुंद5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड-19 के चलते इस वर्ष 75 साल की परंपरा टूटने वाली है। सिक्ख समुदाय के लोग इस बार गुरुनानक जयंती के अवसर पर शहर में नगर कीर्तन यात्रा नहीं निकालेंगे। न ही आतिशबाजी होगी और न ही गुरुद्वारे में लंगर कराया जाएगा। पर्व पूरी तरह से सादगीपूर्ण मनाया जाएगा और प्रकाश पर्व के दिन पैक्ड प्रसाद का वितरण किया जाएगा। यह फैसला गुरु तेग बहादर सिंह गुरुद्वारा समिति के द्वारा लिया गया है। समाज के अध्यक्ष जसबीर सिंह मक्कड़ ने बताया कि कोविड-19 की दूसरी लहर शुरू हो गई है। जिले में केस लगातार बढ़ते जा रहा है, जिसे देखते हुए इस बार लंगर, नगर कीर्तन व प्रभात फेरी नहीं निकालने का निर्णय लिया है। वहीं प्रशासन भी इस बार नगर कीर्तन की अनुमति नहीं देगी। इस बार समिति में सादगीपूर्ण गुरुपर्व मनाने का फैसला लिया है। ज्ञात हो कि पिछले 75 वर्षों से नगर में प्रकाश पर्व पर कीर्तन, लंगर व शौर्य प्रदर्शन होता आ रहा है। सिक्खों के प्रथम गुरु गुरु नानकदेव का प्रकाश पर्व 30 नवंबर को है। प्रतिवर्ष जयंती को लेकर दीपावली के बाद सिख समुदाय के लोग प्रभात फैरी निकालते है, लेकिन इस बार कोविड-19 के चलते प्रभात फेरी नहीं निकाल रहे हैं। इसकी जानकारी समाज के अध्यक्ष ने दी। उन्होंने कहा कि इस बार बाहर से भी लोगों को आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

1947 से नगर कीर्तन की परंपरा की शुरुआत
समाज के पूर्व अध्यक्ष डॉ. एचएस गुरुदत्ता ने बताया कि उनके पूर्वज पाकिस्तान से 1947 में आकर यहां बसे हैं। तब से महासमुंद शहर में नगर गुरुनानक जयंती पर नगर कीर्तन की शुरुआत हुई है। इस बार यह परंपरा टूट जाएगी। समुदाय के लोग इस बार घर व गुरुद्वारा में पर्व मनाएंगे। पर्व को लेकर तैयारियां चल रही है। समिति के द्वारा भी गुरुद्वारे में तैयारियां की जा रही है। आकर्षक लाइटों से गुरुद्वारे काे सजाया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें