आबकारी कर्मी को दफ्तर में पीटा:विधायक पर आरोप, विधायक चंद्राकर बोले- मेरा वास्ता नहीं, कांग्रेस पार्षद समेत दो बंदी

महासमुंद7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घायल लीलाराम साहू। - Dainik Bhaskar
घायल लीलाराम साहू।

जिले के आबकारी शाखा में एक कर्मचारी से मारपीट का मामला सामने आया है। यहां पदस्थ कम्प्यूटर ऑपरेटर से कांग्रेस के पार्षद और एक व्यक्ति ने मारपीट की है। इसके बाद कर्मचारी ने कांग्रेस विधायक और उनके समर्थकों पर मारपीट का आरोप लगाया है। वहीं विधायक विनोद चंद्राकर का कहना है कि उनका इस घटनाक्रम से कोई वास्ता नहीं है।

कर्मचारी की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने बबलू हरपाल और दीपक ठाकुर को गिरफ्तार किया है। बता दें कि बबलू हरपाल वार्ड क्रमांक 6 से पार्षद है।पुलिस को सौंपे गए शिकायत पत्र में लीलाराम साहू पिता शोभाराम साहू ने बताया कि वह सीएसएमसीएल का कर्मचारी है और आबकारी शाखा में लिपिक के रूप में पदस्थ है। सोमवार की दोपहर 2.15 बजे वह कार्यालय में अन्य कर्मचारियों के साथ काम कर रहा था।

इतने में विधायक विनोद कार्यकर्ता दीपक ठाकुर, बबलू हरपाल सहित अन्य व्यक्तियों के साथ भीतर आए और मुझसे पूछा कि तुम कौन हो। मैंने अपना परिचय दिया तो वे लोग मुझसे मारपीट करने लगे। दीपक ठाकुर अन्य अज्ञात व्यक्तियों ने मुझ पर जानलेवा हमला किया। इससे मुझे सिर पर गंभीर चोट आई और खून बहने लगा। इसके बाद अधिकारियों ने बीच-बचाव किया। कर्मचारी ने मामले में संबंधित सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

अधिकारियों ने किया बीच-बचाव, लेकिन कुछ भी कहने से इंकार :
जानकारी के अनुसार घटना के बाद मौके पर मौजूद सहायक जिला आबकारी अधिकारी रविकांत जायसवाल और सहायक आयुक्त आबकारी विजय सेन शर्मा मौके पर पहुंचे। इसके बाद हमला करने वाले लोगों से कर्मचारी को बचाया गया। घटना के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर को मामले की जानकारी दी गई।

उन्होंने मुलाहिजा के लिए जिला अस्पताल भेजा और गंभीर चोट को देखते हुए लीलाराम को रायपुर रेफर कर दिया गया है। इधर, इस मामले को लेकर आबकारी विभाग के किसी भी अफसर का कोई बयान सामने नहीं आया है। मामले को लेकर असिस्टेंट कमिश्नर आबकारी विजय सेन शर्मा से संपर्क किया गया, लेकिन उनका फोन बंद रहा।

वीडियो आया सामने, कर्मचारी ने मारपीट के बाद रिकॉर्ड कर लगाया आरोप : इधर, घटना का एक कथित वीडियो भी सामने आया है। इसमें कुछ लोग दिख रहे हैं तभी वीडियो बना रहे लीलाराम के हाथ से फोन छीन लिया गया। इसके बाद का एक वीडियो है, जिसमें लीलाराम के सिर पर गंभीर चोट नजर आ रही है और वह विधायक समेत अन्य लोगों पर मारपीट करने का आरोप लगा रहे हैं। हालांकि भास्कर इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता।

जांच हो रही है: कलेक्टर
इस मामले में कलेक्टर डोमन सिंह का कहना है कि मामला पुलिस से संबंधित है और पुलिस इसकी जांच कर रही है। वहीं इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है और इसमें दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

बैठक थी, इसलिए कलेक्टोरेट में था: विधायक
इस मामले को लेकर विधायक विनोद चंद्राकर ने कहा कि इस घटनाक्रम से मेरा कोई वास्ता नहीं है। दिशा की बैठक मंगलवार को थी। इसलिए मैं कलेक्टोरेट में मौजूद था। आबकारी शाखा में कतिपय दोनों पक्षाें की आपसी रंजिश के चलते घटनाक्रम हुई है।