नवरात्रि पर्व:3 नवरात्र के बाद इस साल मंदिरों में मिला भक्तों को दर्शन के लिए प्रवेश तो बढ़ी भीड़

महासमुंद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3 नवरात्र के बाद इस साल मंदिरों में मिला भक्तों को दर्शन के लिए प्रवेश तो बढ़ी भीड़

नवरात्रि पर्व की शुरुआत हो चुकी है। गुरुवार को मंदिरों में आस्था की ज्योत जलाई गई। तीन नवरात्र पर्व के बाद इस साल मंदिरों में भक्तों को दर्शन के लिए प्रवेश दिया जा रहा है। इसके चलते पहले ही दिन देवी मंदिरों में भक्तों की भीड़ देखी गई। शाम से देर रात तक मंदिरों में भक्त दर्शन के लिए पहुंच रहे थे। स्थानीय मंदिरों के साथ-साथ अंचल के सभी मंदिरों में भक्तों की भीड़ देखी गई है। मंदिरों में शुभ मुर्हूत में मुख्य ज्योत प्रज्जवलित की गई। इसके बाद देर रात तक सभी ज्योत प्रज्जवलित किए गए।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते पिछले तीन नवरात्र सादगीपूर्ण ढंग से मनाया गया। मंदिरों में दर्शन के लिए प्रवेश वर्जित था, इसलिए सभी भक्त अपने-अपने घरों में कोविड के गाइडलाइन का पालन कर पूजा पाठ किए। इस बार नवरात्र पर्व में भक्तिमय माहौल शुरु दिन से ही दिखने को मिला। इधर, शहर के पंडालों में भी देर रात तक मां दुर्गा की प्रतिमा विराजित किए। नगर की कुलदेवी मां महामाया मंदिर सहित जिलेभर के देवी मंदिरों में अभिजीत मुहूर्त में कलश स्थापना के साथ मनोकामना ज्योत के लिए मुख्य ज्योत प्रज्जवलित की गई। महामाया मंदिर में इस बार करीब 2 हजार, शीतला मंदिर में करीब एक सौ से अधिक ज्योत प्रज्जवलित हो रही है। मंदिर समिति के पदाधिकारी और सदस्य ज्योत प्रज्जवलित करने की तैयारियों में लगे हैं। कमलेश चंद्राकर ने बताया कि देर रात तक सभी मनोकामना ज्योत प्रज्जवलित हुई। इसके अलावा शहर के काली मंदिर, बरोंडा चौक दुर्गा मंदिर, रामेश्वरी दुर्गा मंदिर, भवानी मंदिर, खल्लारी मंदिर में भी ज्योति प्रज्जवलित हुई।

यहां भी मुख्य ज्योत से प्रारंभ हुई नवरात्रि : जिले के बिरकोनी चंडी मंदिर, बागबाहरा घुंचापाली चंडी मंदिर, भीमखोज खल्लारी मंदिर, पतईमाता समेत अन्य देवी मंदिरों में भी अभिजीत मुहूर्त में मुख्य ज्योत प्रज्जवलित कर नवरात्र पर्व की शुरुआत की गई। यहां भी ज्योत के लिए दोपहर तक तैयारियां की जा गई थी। फिर देर शाम को सभी ज्योत जलाए गए। मंदिर में सुबह से देर रात तक दर्शन के लिए भक्तों के आने-जाने का सिलसिला चलता रहा। मंदिर समिति के लोगों ने कोरोना गाईड लाइन के तहत भक्तोंं को मंदिर में प्रवेश देकर दर्शन कराया।

शहर में इन स्थानों पर स्थापित हुई प्रतिमाएं
शहर के पुराना रायपुर नाका, बस स्टैंड, अंबेडकर चौक, लोहिया चौक, पुराना मलेरिया ऑफिस, बीटीआई रोड एसबीआई बैंक, गुड़रुपारा, बजरंग चौक, सतबहनिया मंदिर, बजरंग चौक पटेलपारा, राममंदिर, कुर्मीपारा, महामाया मंदिर चौक, पुराना रावणभांठा, मौहारीभांठा,नयापारा सहित अन्य स्थानों पर प्रतिमा विराजित होंगी।

भक्तों को नहीं कराया गया ज्योत कक्ष में प्रवेश
कोरोना के गाइडलाइन के अनुसार भक्तों को ज्योत कक्ष में प्रवेश दिया कराया गया। शासन ने ज्योति दर्शन के लिए स्पष्ट निर्देश दिया है। बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण पिछले तीन नवरात्र में उत्साह का माहौल नहीं था। सादगीपूर्ण ढंग से पर्व मनाया गया, वहीं दर्शन के लिए भी बड़े मंदिरों में प्रतिबंध लगा दिया गया था। इस साल भक्तों को मंदिर में प्रवेश के साथ दर्शन भी कराया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...